चमकेंगे प्रदेश के सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज


लखनऊ: सूबे में सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेजों व प्राविधिक विश्वविद्यालयों में पंडित दीनदयाल उपाध्याय गुणवत्ता सुधार योजना के अंतर्गत 200 करोड़ रुपये की धनराशि दी जाएगी। यह निर्णय डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) की वित्त समिति की महत्वपूर्ण बैठक में लिया गया। इस धनराशि से इन संस्थानों में बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर, डिजिटल सेवाएं, ट्रेनिंग और प्लेसमेंट तक की बेहतर दी जाएंगी। सभी संस्थानों में यह योजना तीन साल के लिए लागू की गई है।

एकेटीयू के कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक की अध्यक्षता में आयोजित की गई वित्त समिति की बैठक में पंडित दीन दयाल उपाध्याय गुणवत्ता सुधार योजना के अंतर्गत जो 200 करोड़ रुपये दिए जाएंगे उससे संस्थान 60 प्रतिशत धनराशि इंफ्रास्ट्रक्चर, प्रयोगशालाओं और छात्रावासों का सुदृढ़ीकरण व उच्चीकरण, अक्षय ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देना, छात्र-छात्राओं के लिए अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाना, उपकरणों का रखरखाव और दिव्यांगों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने पर खर्च करेगी।

वहीं 40 प्रतिशत धनराशि डिजिटलीकरण, शोध व रोजगार को बढ़ावा देने पर खर्च करेगी। इसके तहत ऑटोमेशन, ई शोध-सिंधु परियोजनाओं के जर्नल खरीदने, साराभाई शोध योजना, मूक्स का निर्माण, डिजिटल टेक्नोलॉजी को बढ़ावा देने का काम करेगी और ट्रेनिंग व प्लेसमेंट सेल को और बेहतर बनाने का काम करेगी। इस योजना का लाभ लेने के लिए सभी संस्थान पीएफएमएस में पंजीयन करवाएंगे और सभी खरीद ई टेंडर व जीईएम पोर्टल के माध्यम से ही करेंगे।

किस संस्थान को कितनी धनराशि मिली
संस्थान धनराशि (रुपये मे)

– मदन मोहन मालवीय विवि, गोरखपुर – 15 करोड़
– हरकोर्ट बटलर विवि कानपुर -15 करोड़
-इंस्टीट्यूट आफ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, लखनऊ – 25 करोड़
– कमला नेहरू इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, सुलतानपुर – 15 करोड़
– बुंदेलखंड इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, झांसी -15 करोड़
– यूपी टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी 10 करोड़
– फैकल्टी आफ आर्किटेक्चर – 10 करोड़
– राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज बांदा – 10 करोड़


राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज आजमगढ़ – 10 करोड़
– राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज अंबेडकरनगर – 10 करोड़
– राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज कन्नौज – 10 करोड़
– राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज मैनपुरी – 10 करोड़
– राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज सोनभद्र- 10 करोड़
– यूपी इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, एकेटीयू – 10 करोड़
– सेंटर फार एडवांस स्टडी एकेटीयू – 15 करोड़

विक्रम साराभाई टीचिंग फैलोशिप में शोध के लिए 40 हजार महीने
एकेटीयू से संबद्ध इंजीनियरिंग कॉलेजों में शोध छात्रों व शिक्षकों के लिए विक्रम साराभाई टीचिंग एंड रिसर्च फैलोशिप शुरू की गई है। इसके तहत चयनित 100 शोध छात्र व शिक्षकों को 40 हजार रुपये प्रति महीने की फैलोशिप तीन वर्ष के लिए दी जाएगी। वहीं, वित्त समिति की बैठक में कर्मचारियों को न्यू पेंशन स्कीम का लाभ देने का निर्णय लिया गया है।

Previous तो क्या नीतीश से नाराज चल रहे सीनियर लीडर शरद यादव बनायेंगे नई पार्टी!
Next इलाहाबाद हाईकोर्ट में जल्द ही एक जनसंपर्क अधिकारी की नियुक्ति

Suggested Posts