‘माफी’ के एवज में लाशों का सच्चा सौदा !


Source :Viwe Source

अलोक पाण्ड़ेय-

‘माफी’ देने के नाम पर गुफा में साध्वियों के साथ दुष्कर्म करने वाला गुरमीत सिंह अपने शौक पूरे करने के लिए लाशों का ‘सौदा’ भी करता था। यूपी के छह मेडिकल कालेजों को डेरा सच्चा सौदा से लाश मिलती थी। एवज में राम रहीम कालेज प्रबंधक से उपकृत होता था। लाश के एवज में गुरमीत क्या लेता था, यह तो स्पष्ट नहीं हुआ, लेकिन ‘माफी’ कोडवर्ड की डिमांड पूरी होती थी। अलबत्ता डेरा सच्चा सौदा से लाश हासिल करने वाले मेडिकल कालेजों का कहना है कि उन्हें समस्त औपचारिकताओं के बाद मुफ्त में लाश मिली थीं। लाश के बदले ‘माफी’ की खबर के बाद निजी मेडिकल कालेजों तथा डेरा सच्चा सौदा के रिश्तों की पड़ताल शुरू हो गई है।

छह कालेजों की डिमांड पर राम रहीम भेजता था लाश

साध्वियों के साथ दुष्कर्म के मामले में 20 साल की सजा काट रहे गुरमीत सिंह के यूपी के छह मेडिकल कालेजों के साथ अच्छे रिश्ते थे। मेडिकल काउंसिल की जांच के वक्त मेडिकल कालेजों की डिमांड पर डेरा सच्चा सौदा से लाश का इंतजाम कर दिया जाता था। सूत्रों के मुताबिक, लाश भेजने से पहले गुरमीत सिंह ‘माफी’ कोडवर्ड में अपनी डिमांड रखता था। मेडिकल कालेज संचालक यह डिमांड पूरी करने के बाद ही लाश हासिल करते थे। खबर यह भी है कि लाश के एवज में रकम भी चुकानी पड़ती थी। अलबत्ता डेरा सच्चा सौदा से लाश हासिल करने वाले सबीछह मेडिकल कालेज- करियर मेडिकल कालेज, इंटीग्रल मेडिकल कालेज, मेयो मेडिकल कालेज, हिन्द मेडिकल कालेज, टीएसएम मेडिकल कालेज, प्रसाद मेडिकल कालेज ने दावा किया है कि लाश के एवज में कोई भुगतान नहीं किया गया है।

डिमांड पर लाश भेजने से शक गहराया, जांच के आदेश

मेडिकल कालेजों को डेरा सच्चा सौदा से लाश हासिल करने की तारीखों से यह बात पुख्ता हुई है कि मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया की जांच टीम के आने से कुछ वक्त पहले ही मेडिकल कालेजों को सिरसा स्थित आश्रम से लाश भेजी गई थीं। ऐसे में सवाल लाजिमी है कि डिमांड पर लाश कैसे उपलब्ध हुईं। उधर गुरमीत के आश्रम का दावा है कि मेडिकल पढ़ाई के लिए शरीर दान की इच्छा जताने वालों के शव को ड्रीप फ्रीजर में रखा जाता था। जोकि मेडिकल कालेजों को आवश्यकता के आधार पर भेजे जाते थे। बहरहाल, लाशों के सौदेबाजी को लेकर हरियाणा सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं। यूपी में पुलिस ने भी मेडिकल कालेजों की पड़ताल का काम शुरू कर दिया है।

डेरा की गुफा और ‘माफी’ को लेकर किस्से तमाम हैं

अय्याश राम रहीम के डेरा सच्चा सौदे में रहस्यमयी गुफा को लेकर तमाम किस्म की चर्चा हैं। बेहद आलीशान भवन को गुफा का नाम देने वाले राम रहीम ने अपने ठिकाने में अय्याशी के तमाम संसाधन जुटा रखे थे। वर्ष 2004 में गुमनाम पत्र के जरिए प्रधानमंत्री कार्यालय को शिकायत भेजने वाली साध्वी ने भी लिखा था कि राम रहीम अक्सर ही ‘माफी’ देने की बात कहकर साध्वियों और हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों को रात में गुफा में बुलाकर यौन शोषण करता है।

Please Write Your Comments Below

Previous लखनऊ मेट्रो के संचालन में रोज-रोज की बड़ी तकनीकी-गड़बड़ियों के उभरने का अर्थ पिछली सपा-सरकार ने मेट्रो परियोजना में आर्थिक-धांधली की !
Next रोहिंग्या पर खुफिया विभाग अलर्ट