उत्‍पीड़न से तंग आकर आत्‍महत्‍या करने वाली छात्रा ने सुसाइड नोट में लिखा ऐसा….


कर्नाटक में बीकॉम (प्रथम वर्ष) की छात्रा धन्‍यश्री की आत्‍महत्‍या मामले में नया मोड़ आ गया है। हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं के तानों से तंग आकर मौत को गले लगाने वाली धन्‍यश्री ने सुसाइड नोट लिखा था। इसमें उसने आरोपियों को संबोधित करते हुए लिखा था, ‘यदि आप जैसे हिंदू लड़के एक हिंदू लड़की के साथ नाइंसाफी करेंगे तो इंसाफ के लिए मैं कहां जाऊंगी? मैं किसी मुस्लिम लड़के से प्‍यार नहीं करती हूं और न ही किसी मुस्लिम लड़के के साथ बाहर जाती हूं। आपने गैरजरूरी तरीके से उत्‍पीड़न कर मेरी छवि धूमिल की है। जो मेरे साथ हुआ है वैसा किसी अन्‍य लड़की के साथ नहीं होना चाहिए।’ मालूम हो कि इस मामले में भाजपा और भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है।

धन्‍यश्री ने व्‍हॉट्सएप ग्रुप पर मुस्लिमों से प्‍यार करने की बात कही थी। इसके बाद से ही उसकी समस्‍याएं बढ़ गई थीं। हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ता उसे परेशान करने लगे थे। आरोपियों द्वारा चेतावनी देने पर धन्‍यश्री ने व्‍हॉट्सएप पर करारा जवाब दिया था। उसने लिखा था, ‘आप क्‍या करने में सक्षम हैं? इसको स्‍टेटस के तौर पर पोस्‍ट करने से मैं डरने वाली नहीं हूं। दफा हो जाओ…मुझे मुस्लिमों से प्‍यार है। मेरी जिंदगी मेरी पसंद है। आप क्‍यों परेशान हो रहे हैं? क्‍यों आप धर्म के नाम पर मरे जा रहे हैं, जबकि हम सब भारतीय हैं? आप जो कह रहे हैं उसकी मुझे बिल्‍कुल परवाह नहीं है। मेरे माता-पिता हमेशा से मेरे समर्थन में हैं।’ धन्‍यश्री डीएसबीजी गवर्नमेंट फस्‍र्ट ग्रेड कॉलेज में पढ़ती थी। कॉलेज के शिक्षकों की नजर में वह तेज-तर्रार छात्रा थी।

इसमें भाजपा कार्यकर्ताओं की संलिप्‍तता भी सामने आई है। धन्‍यश्री चिकमंगलूर जिले के मुदिगेरे शहर में रहती थी। उत्‍पीड़न से तंग आकर उसने 6 जनवरी को आत्‍महत्‍या कर ली थी। पुलिस ने इस मामले में भाजयुमो नेता एमवी अनिल और एक अन्‍य व्‍यक्ति संतोष को गिरफ्तार किया है। संतोष ने खुद को बजरंग दल का कार्यकर्ता बताया था, लेकिन पुलिस सूत्रों की मानें तो वह भी भाजपा का सदस्‍य है।

दक्षिण कन्‍नड़ निवासी संतोष ने ही धन्‍यश्री और उसके परिवार को चेतावनी दी थी। चिकमंगलूर के पुलिस अधीक्षक के. अन्‍नामलाई ने बताया कि संतोष को गुरुवार (12 जनवरी) को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया। चिकमंलूर से भाजपा विधायक सीटी रवि ने इस घटना को दुर्भाग्‍यपूण बताते हुए भाजपा कार्यकर्ता अनिल का बचाव किया है। उन्होंने कहा कि अनिल ने कोई अपराध नहीं किया है। वह बस धन्‍यश्री के परिवार को लव जिहाद के खतरों से आगह करने की कोशिश कर रहा था।

Please Write Your Comments Below

Previous आश्रम में बंदूक की नोक पर तीन साध्वियों से हुआ रेप, जानिए मामला...
Next विवेकानंद जिन्होंने पूरी दुनिया को सिखाया भाईचारे का सबक, जानिए...