समुद्र की लहरों से यूं टकरा रहीं इंडियन नेवी की जांबाज महिलाएं, देखिये…


चारों तरफ पानी ही पानी और उससे उठती लहरों की तूफानी गर्जना के आगे किसी का भी कलेजा मुंह को आ जाए लेकिन भारतीय नौसेना की जांबाज महिलाएं समंदर की उन जानलेवा लहरों के हमलों को कैसे असफल कर देती है, इसका एक वीडियो वायरल हो रहा है। समाचार एजेंसी ने वीडिया शेयर किया है। भारतीय नौसेना की 6 महिला अधिकारी आईएनएसवी तारिणी नौका से दुनिया भर के समंदर को नापने के मिशन पर निकली हैं।

इन महिला अधिकारियों को समंदर की परिस्थियों से सामना करने की ट्रेनिंग मिली है। इस यात्रा में महिला सैनिक दक्षिण अटलांटिक महासागर के फॉकलैंड टापू तक जाएंगी। 56 फुट की नाव पर सवार महिला सैनिकों को खासे मुश्किल हालातों का सामना करना पड़ रहा है। नौसेना के ऑफिशियल ट्विटर से बताया गया है कि तामाम मुश्किलों के बावजूद महिला सैनिक तेजी से अपने मिशन पर आगे बढ़ रही हैं। नेवी के मुताबिक महिला सैनिक नाविका सागर परिक्रमा नाम के प्रोजेक्ट को पूरा कर रही हैं, जिसमें नेवी की महिला अधिकारियों को भारत में निर्मित आईएनएनवी तारिणी से दुनिया भर की सैर करनी है।

यह पहली दफा है जब इस तरह के मिशन पर दल में केवल महिलाएं शामिल हैं। इस दौरान महिला अधिकारियों को अनुसंधान और विकास संगठनों द्वारा मौसम और समंदर की हरकतों पर किए गए विश्लेषण और अपने अनुभवों को मिलाते हुए रिपोर्ट तैयार करनी है। इस मिशन में नाव की कप्तान लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी हैं। उनके अलावा दल में लेफ्टिनेंट कमांडर प्रतिभा जामवाल, पी स्वाति, लेफ्टिनेंट एस विजया देवी, ऐश्वर्या बोड्डापति और पायल गुप्ता शामिल हैं। महिला अधिकारी अपना मिशन पूरा करने के बाद अप्रैल में गोवा लौटेंगी।

समंदर की तूफानी लहरों को ललकारती हुई भारतीय नौसेना का महिलाएं अपने मिशन पर लगातार आगे बढ़ती जा रही है। इस दौरान नौका को समुंद्री तूफानों से भी गुजरना पड़ रहा है। भारतीय नौसेना की जांबाज महिलाएं समुद्री तूफानों का सामना जिस काबीलियत से कर रही हैं वह काबिल-ए-तारीफ है। महिला अधिकारियों के इस कदम से देश की करोड़ों महिलाओं को प्रेरणा मिलेगी।

Please Write Your Comments Below

Previous जब वीरप्पन को पकड़ने के लिए मांगी गई थी रजनीकांत से मदद, जानिए...
Next माल्या के वकीलों ने भारत के सबूतों पर उठाए सवाल....