मौलाना कल्बे सादिक: अयोध्या में बने विद्या का मंदिर, मदरसों की शिक्षा से बेहतर है मॉडर्न एजुकेशन…


बाराबंकी: ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के वाइस प्रेसिडेंट मौलाना कल्बे सादिक ने कहा कि अयोध्या में मंदिर जरूर बनाना चाहिए, लेकिन विद्या का मंदिर बने। उन्होंने कहा कि यह विवाद जब लोग सुलझाना चाहेंगे तो खुद-ब-खुद सुलझ जाएगा। जब नहीं सुलझाना चाहेंगे तो नहीं सुलझेगा, लेकिन इस विवाद को सुलझाना चाहिए। मौलाना कल्बे सादिक यहां जहांगीराबाद इंस्टीट्यूट के दीक्षांत समारोह में शामिल होने आये थे।

– उन्होंने कहा – ‘मदरसों की शिक्षा से ज्यादा बेहतर मॉडर्न एजुकेशन है।’ हम जब एजुकेशन की बात करते हैं तो हमारी मुराद होती है मॉडर्न एजुकेशन, न की धार्मिक एजुकेशन। धार्मिक एजुकेशन भी जरूरी है, लेकिन मॉडर्न एजुकेशन जरूरी है।

– मौलाना ने कहा ‘मुझे मुसलमानों से प्रॉब्लम आयी है। हिन्दुओं से कभी कोई प्रॉब्लम नहीं आयी। हिन्दुओं ने मुझे हमेशा इज्जत और प्यार दिया है। मुसलमानों से पूछिए कि दीन क्या है, धर्म क्या है। तो वह कहेंगे नमाज पढ़ना, रोजे रखना, हज करना। ये सब धार्मिक प्रथाएं हैं, दीन नहीं है।’

कौन हैं मौलाना कल्बे सादिक ?
– मौलाना कल्बे सादिक शियाओं के धर्मगुरु हैं।
– इससे पहले भी उन्होंने कई बार मुसलमानों को लेकर विवादित बयान दिए हैं। उन्होंने 2016 में एक सभा में कहा था कि, मुसलमानों को खुद जीने का सलीका नहीं पता औऱ युवाओं को धर्म का रास्ता दिखाते हैं। उन्हें पहले खुद सुधरना होगा जिससे कि मुस्लिम युवा उनकी राहों पर चले। आज मुसलमानों को धर्म से ज्यादा अच्छी शिक्षा की जरूरत है।

Please Write Your Comments Below

Previous यूपी: 1 करोड़ रुपए से अध‍िक की न्यू करेंसी के साथ 2 लोग अरेस्ट...
Next लखनऊ: हेलि‍कॉप्टर से पहुंची दुल्हन को देखने उमड़ा पूरा गांव...