हमीदिया हॉस्पिटल में 6 माह से जांच किट नहीं, मानवाधिकार आयोग ने मांगा जवाब…


मध्यप्रदेश की राजधानी के सबसे बड़े हमीदिया हॉस्पिटल में बीते छह माह से जांच किट की अनुपलब्धता की वजह से मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. इसे राज्य मानवाधिकार आयोग ने गंभीरता से लेते हुए अस्पताल के अधीक्षक और गांधी मेमोरियल कॉलेज के अधिष्ठाता से जवाब तलब किया है.

राज्य मानव अधिकार आयोग
राज्य मानव अधिकार आयोग की ओर से मंगलवार को दी गई आधिकारिक जानकारी के अनुसार, “हमीदिया अस्पताल में सर्जरी, पीडियाट्रिक सर्जरी, मेडिसिन, पीडियाट्रिक मेडिसिन और कार्डियक थोरेसिक सर्जरी विभाग में ऑटोमेटिक ब्लड गैस एनालाइजर (एबीजी) मशीनें लगी होने के बावजूद छह माह से जांच किट न होने के कारण मरीजों को हो रही परेशानी के संबंध में संज्ञान लिया गया है।”

एबीजी एनालाइजर मशीन
आयोग ने अधीक्षक से जानना चाहा है कि एबीजी एनालाइजर मशीन के लिए आवश्यक किट कब से उपलब्ध नहीं है और इसके लिए अब तक क्या कार्रवाई की गई है. इसी तरह आयोग ने राजधानी के कोलार के सर्वधर्म स्थित दामखेड़ा ‘ए’ सेक्टर में संचालित हो रही दो आंगनवाड़ियों में मूलभूत सुविधाओं के अभाव की स्थिति पर भोपाल के जिलाधिकारी से रिपोर्ट मांगी है. आयोग ने आंगनबाड़ी केंद्र में बच्चों एवं महिलाओं को हो रही असुविधा को समाप्त करने के प्रयासों का भी ब्योरा मांगा है .

पुलिस महानिरीक्षक से भी मांगी रिपोर्ट
आयोग ने जबलपुर में हुए सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता और आरोपियों का वीडियो पुलिस द्वारा वायरल किए जाने के मामले में जबलपुर के पुलिस महानिरीक्षक से भी रिपोर्ट मांगी है . आयोग ने दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध मामला दर्ज करने के बारे में भी पूछा .

टीकमगढ़ जिले के मोहनगढ़ स्थित शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में स्व. सुनील नायक स्मृति वालीबॉल एवं विधायक कप टूर्नामेंट का आयोजन किया गया, जबकि इस अवधि में स्कूल में माध्यमिक शिक्षा मंडल की वार्षिक परीक्षाएं आयोजित की जा रही थीं और छात्रों को स्कूल की छत पर बैठकर परीक्षा देना पड़ा . आयोग ने इस मामले में भी संज्ञान लेकर टीकमगढ़ के कलेक्टर से रिपोर्ट मांगी है .

Please Write Your Comments Below

Previous गुलाम नबी आजाद: कागजी है मोदी का 56 इंच का सीना, यह टेलीविजन वाली सरकार...
Next अंडमान द्वीप पर 5.6 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए...