ये लड़की क्यूँ अपने ही भाई से शादी करना चाहती है?

Why does this girl want to marry her brother?

Why does this girl want to marry her brother?

       

मुरादाबाद,  उत्तर प्रदेश।

हम आये दिन कोई न कोई ऐसी खबरें पढ़ते रहते हैं जिनमें रिश्तों को शर्मसार करने की बातें होती हैं, मगर एक अजीबोगरीब मामला उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले से सामने आया है। जहाँ मौसेरा भाई का अपनी ही सगी मौसेरी बहन से करीब छह साल तक शारीरिक संबंध रहे। क्यूंकि भारतीय कानून के अनुसार अगर एक बालिग लड़का और एक बालिग लड़की आपस में अपनी मर्जी से संबंध बनाते है, तो इसमें कुछ गलत नहीं है, मगर यक़ीनन ये बहुत दुखद है जिसमे नजदीकी रिश्तों में यौन सम्बन्ध नाजायज ही नहीं सरासर गलत भी है।
मुरादाबाद जिले में ये राकेश (काल्पनिक नाम) अपनी मौसेरी बहन प्रिया (काल्पनिक नाम) को शादी का झांसा देकर उसके साथ पिछले छह साल से शारीरिक संबंध बनाता रहा और इसके बारे में किसी को भी जानकारी नहीं थी। मगर जब प्रिया ने शादी का दबाव बनाया तो राकेश ने किसी दूसरी लड़की का हाथ थाम लिया और वो उस दूसरी लड़की से शादी करने जा रहा था।

मगर जब प्रिया को उसकी शादी के बारे में पता चला, तो वो पुलिस को लेकर लड़के के घर पहुंच गई और घरवालों के सामने ही राकेश से अपनी शादी करने की जिद्द करने लगी। ऐसे में राकेश के घर वालो ने लड़की को दोनों की शादी कोर्ट में करवाने का दिलासा देकर उसे वापिस अपने घर भेज दिया। मगर अगले दिन जब लड़की कोर्ट मैरिज के लिए मुरादाबाद पहुंची, तब वहां न तो लड़का था और न ही लड़के के घर वाले वहां मौजूद थे।

कोर्ट के बाहर राकेश और उसके के घर वालो को न देख कर प्रिया गुस्से में राकेश के घर जा पहुंची और वहां का नजारा देख कर सन्न रह गई। यहाँ राकेश के घर शादी का कार्यक्रम चल रहा था और लगन की पूरी तैयारी भी हो चुकी थी। जब इस मामले ने काफी तूल पकड़ा तो पंचायत भी बैठाई गई। मगर इस मामले में कोई सही फैसला नहीं हो सका। इसके बाद लड़की के घर वालो ने भी उससे अपने सारे रिश्ते तोड़ दिए और पुलिस ने भी अब तक इस मामले को लेकर कोई केस दर्ज नहीं किया है।

अगर सामाजिक नियमो से देखा जाए तो इस मामले में राकेश और प्रिया दोनों की गलती थी, जिन्होंने अपनी हवस के आगे सामाजिक मर्यादा ताख पर रख दी। सजा तो दोनों को मिलनी चाहिए थी, मगर अब सजा अकेली प्रिया ही भुगत रही है।
हमारे बुज़ुर्गो और कानून ने जो सामाजिक नियम बनाये हैं उनका उल्लंघन कभी नहीं करना चाहिए क्यूंकि अंततः इससे न सिर्फ सामाजिक मूल्यों की क्षति होती है बल्कि आपकी अपनी सामाजिक प्रतिष्ठा भी धूमिल होती है। कृपया ऐसी अनाचार से बचने का प्रयत्न करें। दोनों की इज़्ज़त करना सीखें।

related post – जब बहन ने कहा अबसे ये भाई नहीं ”पति” हैं मेरे, जानिये पूरी कहानी

Please Write Your Comments Below

Previous मुंबई-हावड़ा मेल ट्रेन के तीन डिब्बे पटरी से उतरे!
Next कामयाब हुई तो विपक्षी एकता की निकलेगी हवा: बीजेपी 'कोरोमंडल प्लान'