प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घरों के साइज में हुआ बड़ा बदलाव

प्रधानमंत्री आवास योजना को ग्रामीण इलाकों तक लेकर जाना है। गरीबों को घर मिलने से एक बड़ा बदलाव आएगा।

Major changes in the size of the houses under the Prime Minister’s Housing Scheme.

 

जल्द ही अपने सपनों के घर का इंतजार कर रहे लोगों को ब्याज सब्सिडी का फायदा मिलना शुरू हो जाएगा। प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के तहत जल्द उन्हें अपने होम लोन पर करीब ढार्इ लाख रुपए की ब्याज सब्सिडी मिलेगी। उत्तर प्रदेश सरकार ने उन नामों को आवास व शहरी मामलों के मंत्रालय के पास भेजा गया है। सरकार ने भी इस पर मुहर लगा दी है। घर खरीदार अपने बैंक से संपर्क कर सकते हैं। शहरी विकास मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक, घर खरीदार जिन्होंने जनवरी 2017 के बाद घर खरीदा है उन्हें अपने बैंकों में जाना चाहिए और 15 मार्च के नोटिफिकेशन के तहत ब्याज सब्सिडी की प्रक्रिया शुरू करने का आग्राह करना चाहिए। मंत्रालय पहले ही हुडको और नेशनल हाउसिंग बैंक का इस संबंध में जानकारी दे चुका है।

सरकार का यह फैसला 1 जनवरी 2017 से प्रभावी होगा। मतलब यह कि अगर आपने 1 जनवरी 2017 के बाद मकान खरीदा है और बढ़े हुए कार्पेट एरिया में खरीदा है तो आपको प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिलने वाली सब्सिडी का भी फायदा मिलेगा। क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम (CLSS) के तहत 92,000 घर खरीदारों को ब्याज सब्सिडी का फायदा मिलेगा। मध्यम वर्ग के 22,000 लोगों को भी इसका फायदा मिलेगा। इनसे ज्यादा खरीदारों को ब्याज सब्सिडी का लाभ मिलेगा।

सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घरों के साइज में बड़ा बदलाव किया है। मिडिल इनकम ग्रुप यानि MIG-I और MIG-II कैटेगरी में घरों का कार्पेट एरिया बढ़ा दिया गया है। MIG-I में एरिया 120 वर्गमीटर से बढ़ाकर 160 वर्गमीटर कर दिया गया है। वहीं, MIG-II में घरों का एरिया 150 वर्गमीटर से बढ़ाकर 200 वर्गमीटर कर दिया गया है। MIG-I में सालाना 6 से 12 लाख तक कमाने वाले वालों को और MIG-II में 12 से 18 लाख तक कमाने वालों को घर के लिए लोन मिलता है। इन बदलावों से मिडिल क्लास को अब सबसे ज्यादा फायदा मिलेगा। MIG-I में 6-12 लाख रुपए कमाई वालों को लोन पात्रता होती है। वहीं MIG-II में 12-18 लाख रुपए कमाई वालों को लोन पात्रता होती है। MIG-I में ग्राहक को 4 फीसदी की लोन सब्सिडी मिलती है।MIG-II में ग्राहक को 3 फीसदी की लोन सब्सिडी मिलती है। MIG-I में ग्राहक को 235068 का सीधा फायदा मिलेगा। वहीं MIG-II में ग्राहक को 2,30,156 रुपए का सीधा फायदा मिलेगा। सरकार की योजना के तहत गरीबों को घर देने का मकसद प्रधानमंत्री आवास योजना को ग्रामीण इलाकों तक लेकर जाना है। पहले इन्हीं इलाकों में घर दिए जाएंगे।

PMAY योजना के तहत जल्द ऐसे खरीदारों को होम लोन पर करीब ढार्इ लाख रुपए की ब्याज सब्सिडी मिलेगी जिनकी सालाना इनकम 18 लाख रुपए तक है और जिन्होंने जनवरी 2017 के बाद मकान खरीदा है, प्रधानमंत्री आवास योजना को पीएम मोदी ने 2016 में लॉन्च किया था। इसकी डेडलाइन मार्च 2019 रखी गई थी।

Please Write Your Comments Below

Previous 23 लाख लोगों को होगा फायदा! मोदी सरकार का बड़ा फैसला...
Next भय्यूजी ने आत्महत्या करने से पहले सेवादार के नाम कर दी थी पूरी संपत्ति