सरकार ने Whatsapp, Duo, Imo और Skype के वीडियो कॉल पर लगाई पाबंदी

वीडियो कॉलिंग की अनुमति केवल टेलिकॉम कंपनियों को ही दी जाएगी। अब इस नियम के बाद केवल लाइसेंसधारक टेलिकॉम कंपनियों को अपनी वीडियो कॉलिंग एप लॉन्च करनी होगी।

Government ban on video calls of Whatsapp, Duo, Imo and Skype.

भारत सरकार बहुत जल्द Apps का इस्तेमाल पर रोक लगाने वाली है। इसके लिए  ने इंटरनेट टेलिफोन के नियमों में बदलाव किया है। इसके तहत वीडियो कॉलिंग की अनुमति केवल टेलिकॉम कंपनियों को ही दी जाएगी। अब इस नियम के बाद केवल लाइसेंसधारक टेलिकॉम कंपनियों को अपनी वीडियो कॉलिंग एप लॉन्च करनी होगी। इसका सीधा असर ,  , और  जैसी वीडियो कालिंग सुविधा देने वाली एप्स कंपनियों पर पड़ने वाला है

DoT ने लाइसेंस शर्तों में संशोधन किया है। इसमें सेल्यूलर मोबाइल सर्विस और इंटरनेट टेलीफोनी सर्विस दोनों के लिए ही एक नंबर अलॉट किया जाएगा जिससे बिना सेल्यूलर नेटवर्क के Wi-Fi सर्विस द्वारा वॉयस कॉल करने को अनुमति मिलेगी। नियमों में किए गए संशोधन के मुताबिक आने वाले समय में वीडियो कॉलिंग एप के बजाय वाई-फाई से की जा सकेगी। अगर यह सर्विस शुरू होती है तो जैसे यूजर्स वॉयस कॉलिंग के लिए शुल्क अदा करते हैं वैसे ही उन्हें वीडियो कॉलिंग के लिए (जिस कंपनी के नेटवर्क पर कॉल आता है उसे दूसरी कंपनी की ओर से टर्मिनेशन चार्ज मिलता है) देना होगा।

यह सर्विस मोबाइल यूजर को नजदीकी पब्लिक Wi-Fi नेटवर्क के जरिए कॉल कनेक्ट करने में मदद करेगी। DoT ने टेलिकॉम कंपनियों से कहा है कि उन्हें सब्सक्राइबर्स को इस सर्विस से संबंधित डिटेल में जानकारी देनी आवश्यक है जिससे वो ठीक से निर्णय ले पाएं। इसके साथ ही DoT से सभी टेलिकॉम कंपनियों को वॉयस कॉल Wi-Fi से कनेक्ट करते समय एक दूसरे के डाटा नेटवर्क इस्तेमाल करने की भी इजाजत दे दी है। साथ ही अगर थर्ड पार्टी लाइसेंस खरीदती है तो उन्हें भी इस सर्विस की इजाजत मिल जाएगी। वहीं, DoT ने टेलिकॉम कंपनियों से यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि कंपनियां इस सर्विस से संबंधित सभी नियमों का पालन कर रही हैं।

Please Write Your Comments Below

Previous अब 24 डि‍ग्री से कम नहीं कर सकेंगे AC का टेंपरेचर! जानिए वजह...
Next बीजेपी कार्यकर्ता की चाकू मारकर हत्या: कर्नाटक