जानिये लखनऊ में बिकी हीरे की राखी की क्या थी कीमत

सोने के ब्रेसलेट और कड़े को राखियों की तरह बनाया गया है। इन राखियों को कहीं और से नही बल्कि कोयम्बटूर, कटक, कोलकाता और राजकोट से मंगाया गया है

Know what was the price of Rakhi, which was sold in Lucknow.

          

इस बार रक्षाबंधन का त्योहार 26 अगस्त को है। जिसके चलते बहने अपने भाईयों की कलाई में राखी बांधने की तैयारी में जुटी है। दरअसल इस बार रक्षाबंधन में 12 लाख रुपये की हीरे वाली राखी खरीदकर पिछले सारे रिकार्ड तोड़ दिए गए हैं। वहीं इस बार रक्षाबंधन में कोलकाता, कोयम्बटूर, राजकोट और कटक की मशहूर कारीगरी वाली ब्रेसलेट और कड़े की राखियां भी बाजार में अपा धूम मचाने में कोई कसर नही छोड़ रही हैं। आपको बता दे कि इन राखियों की कीमत बाजार में पांच हजार रुपये से डेढ़ लाख रुपये तक है।

दरअसल शहर के सबसे मशहूर सर्राफा बाजार से सॉलिटियर हीरे वाली 12 लाख रुपये की राखी के बिकने की चर्चा खूब जोरों शोरों से हो रही है। और इस सोने वाली राखी में सॉलिटियर हीरा को राखी के बीच में सजाया गया है। और ज्वैलर्स का कहना है कि ब्रेसलेट के रूप में बनी इस राखी की फिनिशिंग करने में कोयम्बटूर के कारीगरों ने भी अपना कमाल दिखाया है। हालांकि ज्वैलर्स ने खरीदार का नाम बताने से साफ इनकार कर दिया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि सर्राफा बाजार में इस बार सोने की राखियों की कई सारी वैरायटी है। और चौक सर्राफा के ज्वैलर्स आदीश जैन का कहना है कि सोने के ब्रेसलेट और कड़े को राखियों की तरह बनाया गया है। इन राखियों को कहीं और से नही बल्कि कोयम्बटूर, कटक, कोलकाता और राजकोट से मंगाया गया है। उनका कहना है कि कोयम्बटूर की राखियों को बनाने में यहां के कारीगरों द्वारा जो फिनिशिंग दी गई है वह बेशक काबिलेतारीफ है।

वहीं कोलकाता के डोमेट तार रस्सी जैसे तार से बनी राखी भी ग्राहकों को बेहद पसंद आ रही है। इन राखियों की भी कीमत पांच हजार रुपये से शुरू होकर डेढ़ लाख रुपये तक की है। हालांकि इस बार चांदी की राखियां ज्यादा प्रयोग मे लाई गई है। सूत्रों के मुताबिर पता चला है कि फेसबुक और डोरेमान की लोकप्रियता को देखते हुए चांदी की राखियों में इनकी छवि को मीनाकारी से उकेरा गया है। जिसके साथ ही शंकर भगवान, स्वास्तिक, गणेश जी, ऊंसाईं बाबा, स्टोन राखी, मिकी माउस, रुद्राक्ष सहित अन्य राखियों का संग्रह चांदी में उपलब्ध है। जिसकी कीमत 200 रुपये से तीन हजार रुपये तक की है।

Previous कोलंबिया में जश्न से मनाया जाता है आलसियों का दिन
Next जानिये किस वजह से कांग्रेस से घिरी मोदी सरकार