अखिलेश यादव ने नोटबंदी पर सवाल कर किया केंद्र सरकार पर जमकर वार

अखिलेश यादव ने कहा कि महागठबंधन का प्रश्न भाजपा से नहीं करना चाहिए, इस सवाल का जवाब गोरखपुर, फूलपुर और कैराना की जनता ने दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग सिर्फ जातिवाद की बात करते हैं। जबकि हम मेट्रो और लैपटॉप की बात करते हैं

Akhilesh Yadav questions the demonitisation on the central government

    

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने नोटबंदी पर सवाल खड़ा करते हुए केंद्र सरकार पर किया  जमकर वार। हिन्दुस्तान शिखर समागम 2018 में लखनऊ में अखिलेश यादव ने कहा कि नोटबंदी पर बहस होनी चाहिए। दरअसल उनका कहना है कि नोटबंदी यदि अच्छी है तो फिर से करके दिखाएं।

आपको बता दे कि अखिलेश यादव ने भाजपा से सवाल करते हुए कहा था कि नोटबंदी के दौरान जितने लोग मरे थे उन लोगों की क्या मदद की गई। सबसे ज्यादा गरीबों को नोटबंदी में परेशानी हुई। जिसकी वजह से आज बैंक घाटे में है। उनका कहना है कि भाजपा को यह बताना चाहिए कि आखिरकार बैंक घाटे में कैसे है। इसी के आगे उन्होंने कहा कि एक सवाल के जवाब में अखिलेश यादव ने कहा कि महागठबंधन का प्रश्न भाजपा से नहीं करना चाहिए, इस सवाल का जवाब गोरखपुर, फूलपुर और कैराना की जनता ने दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग सिर्फ जातिवाद की बात करते हैं। जबकि हम मेट्रो और लैपटॉप की बात करते हैं। जब हम उत्तर प्रदेश के विकास की बात करते हैं तो वह कब्रिस्तान और दिवाली की बात करते हैं लेकिन अब इनको काम बताना होगा।

गौरतलब है कि अखिलश यादव ने कहा कि सरकार का सबसे बड़ा फैसला नोटबंदी था। कम से कम अब नोटबंदी पर तो देश में बहस होनी ही चाहिए। मैं पूछना चाहता हूं कि नोटबंदी में जितने लोग मरे थे, भाजपा ने उनके लिए क्या किया। गरीबों का क्या भला हुआ। उन्होंने कहा कि भाजपा का कहना है कि नोटबंदी के पश्चात यूपी जीता, गुजरात जीता, तो एक बार और नोटबंदी कर दो और देश जीत लो।

Previous कन्हैया कुमार लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए तैयार
Next योगी आदित्यनाथ: राम मंदिर की तिथि तय करेंगे भगवान राम

Suggested Posts