इस वजह से होती है योनि में सूजन


Due to this, swelling in the vagina.

  

शरीर के अन्य हिस्सों के जैसे ही अपने प्राइवेट पार्ट कि साफ सफाई भी उतनी ही जरूरी है. खासकर महिलाओं को प्राइवेट पार्ट क‍ी साफ सफाई के लिए जागरुक होना जरुरी है क्‍योंकि सफाई के अभाव में महिलाओं योनि के संक्रमण से संक्रमित होना पड़ता हैं। जिस वजह से योनि में सूजन भी आ सकती हैं। महिलाओं में अक्‍सर योनि की सूजन की शिकायत रहती हैं। यह बहुत सामान्‍य सी समस्‍या हैं, हर किसी को कभी न कभी वुल्‍वा में सूजन की शिकायत जरुरत होती हैं। योनि में होने वाली सूजन को वेजिनाइटिस भी कहते है, जिसके परिणामस्‍वरुप योनि डिस्‍चार्ज, योनि में खुजली और दर्द होता हैं।

यह संक्रमण कोई बीमारी नहीं है, लेकिन यह समस्या उन महिलाओं में अधिक होती है जो यौन क्रिया में अक्सर सक्रिय रहती हैं। कभी कभी एंटीबायोटिक्स लेने से भी इन जीवाणुओं में वृद्धि होती है और संक्रमण की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। अन्य कारण हैं – गर्भावस्था के दौरान, एस्ट्रोजन का स्तर, हॉर्मोन में बदलाव, मधुमेह आदि के वजह से भी योनि में सूजन या वेजिनाइटिस हो जाता हैं।

योनि में सूजन के लक्षण-

1. योनि और वुल्‍वा के चारो तरफ, खुजली, जलन और सूजन आ जाएगी।
2. वुल्‍वा के आस पास दर्द होना।
3. सेक्‍स के दौरान दर्द और असुविधाजनक लगना।
4. बार बार पेशाब लगना और पेशाब करते समय दर्द होना।
5. वजाइना डिस्‍चार्ज होना।

योनी में यीस्ट संक्रमण यह सबसे आम प्रकार का योनि संक्रमण है। ये कैंडिडा नामक फंगस प्रजाति के कारण होता है। कैंडिडा आपकी योनि में कम संख्या में प्राकृतिक रूप से मौजूद रहते हैं जो आमतौर पर नुकसानदायक नहीं होते। लेकिन जब वे किसी वजह से संख्या में बढ़ जाते हैं तब योनि संक्रमण का कारण बनते हैं।

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण आमतौर पर लेडीज के गुप्तांग पर स्वस्थ प्रकार के बैक्टीरिया रहते हैं जिनसे कोई भी प्रॉब्लम नहीं होती लेकिन कभी कभी कई कारणों से बुरे बैक्टीरिया की संख्या ज्यादा हो जाती है और आपको प्राइवेट पार्ट में बैक्टीरियल इन्फेक्शन हो जाती है जिसके लक्षण होते हैं खुजली, जलन, सूजन और बदबूदार डिस्चार्ज होना|

ट्राइकोमोनिएसिस ये संक्रमण यौन संचारित संक्रमण है। यह संक्रमण संभोग के दौरान एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में स्थानांतरित होता है।

यौन संचारित रोग यौन रोग के द्वारा भी अकसर महिला को योनी की खारिश और दुसरे लक्षण होने की शिकायत होती है| नीचे कुछ यौन गुप्त रोग हैं जिनके कारण प्राइवेट पार्ट में खाज होना एक आम बात है|

हपर्स यह हपर्स (HSV) द्वारा फैलाया जाता है इसमें गुप्तांग के आस पास दाने और घाव हो जाते हैं| इसमें रोगी को जलन , दर्द और काफी तेज खुजली रहती है|

असंक्रामक वैजिनाइटिस वजाइना स्‍प्रे, डूश, सुगंधित साबुन, सुंगधित डिटरर्जेंट और शुक्राणुनाशक उत्‍पादो से एलर्जी हो सकतीह ै या योनि के ऊतकों में जलन हो सकती हैं।

एस्‍ट्रोजन की कमी के चलते महिलाओं के शरीर में एस्‍ट्रोजन हार्मोन की कमी के चलते योनि में सूजन आ जाती हैं। इसे वजाइन अट्रोफी भी कहा जाता है, जिसमें योनि में खुजली और आसामान्‍य डिस्‍चार्ज होने लगता है। ब्रेस्‍टफीडिंग, मैनोपॉज, ऑवेरी में चोट लगने या ऑवेरी निकाल देने के वजह से भी एस्‍ट्रोजन के स्‍तर पर कमी आ जाती हैं।

Previous पेशाब में आये झाग तो हो जाएँ सावधान, इस गंभीर रोग का लक्षण हो सकता है
Next संपर्क