फोन को फर्जी ऐप से बचाने के लिए गूगल ने पेश किया नया फीचर


Google launches new feature to avoid smartphone fake Apps.

  

गूगल प्ले स्टोर पर बैंक, एंटीवायरस और न जाने कितने मिलते जुलते नामों के ऐप्प्स की भरमार है, जिसे आम लोगों के लिए पहचान पाना नामुमकिन है मगर गूगल ने एंड्रॉयड यूजर्स के फोन की सुरक्षा के लिए एक ऐसा फीचर शुरु किया है, जो पियर-टू-पियर फाइल शेयरिंग प्‍लेटफॉर्म जैसे शेयरइट या एक्‍सेंडर द्वारा यूजर्स के बीच साझा किए जाने वाले हर ऐप को वेरीफाई करेगा।

दरअसल कई बार यूजर्स इंटरनेट डेटा बचाने के चक्कर में फेक ऐप डाउनलोड कर बैठते हैं। फिर ये फेक ऐप कई बार यूजर्स के लिए परेशानी का कारण बन जाते हैं। गूगल का यह फीचर ऑफलाइन भी काम करेगा। इसका फायदा यह है कि जैसे ही आप कोई ऐप डाउनलोड करते हैं, गूगल प्ले उस ऐप को तुरंत वेरिफाई कर देगा। यह फीचर गूगल के खुद के शेयरिंग ऐप, फाइल गो और एक्जेंडर पर भी उपलब्ध है। इसकी मदद से यूजर्स खुद को ऑफलाइन डिस्ट्रीब्यूशन चैनल डिवेलपर के रूप में भी विकसित कर सकते हैं। फेक ऐप होने पर यूजर को अनसेफ का नोटिफिकेशन मिलने लगेगा। इस तरह से यूजर को अलर्ट कर देगा।

ऐंड्रॉयड यूजर की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए गूगल ने हाल ही में Intra नाम का एक और साइबर सिक्यॉरिटी ऐप भी लॉन्च किया है। इसकी मदद से यूजर्स DNS के अटैक से बच सकते हैं। ऐसा दावा किया जाता है कि यह ऐप यूजर्स के इटंरनेट की स्पीड को बिना धीमा किए मैलवेयर और धोखाधड़ी से बचाने में मदद करता है।

Previous 16 साल की बेटी के साथ हर जगह रेप करता था हैवान पिता
Next जिससे रक्षाबंधन पर बंधवाई थी राखी उसी बहन को लेकर भागा और कर ली लव मैरिज