महामहिम राज्यपाल राम नायक जी का सुल्तानपुर में सम्बोधन


Address of His Excellency Governor Ram Naik ji in Sultanpur.

  

सूबे के राज्यपाल राम नायक ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को पहले से बेहतर बताया उन्होंने बुलंदशहर में मारे गए इंस्पेक्टर की घटना पर कहा कि पहले से अब संगठित अपराध कम हो गए। उन्होंने योगी और मोदी को के कार्यों की सराहना करते हुए बताया कि आज उत्तर प्रदेश में उद्यमियों का भरोसा जीता है ।आज 24 घंटे बिजली दी जा रही है और बेहतर कानून व्यवस्था का माहौल बना हुआ है ।नहीं तो यहां लोग अपना पैसा इन्वेस्ट करने में घबराते थे। बीते फरवरी माह में जो इन्वेस्टर्स समिट हुआ था ,उसके परिणाम आने लगे हैं। श्री नायक आज हनुमान गंज स्थित रेवार्ड स्नातकोत्तर महाविद्यालय पहुंचे। यहां पर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग भारत सरकार के समन्वय में राष्ट्रीय कार्यशाला ड्रिंकिंग वाटर एवं सैनेट्री का शुभारंभ किया। इस अवसर पर श्री नायक ने कहा कि वर्ष 2025 में सबसे ज्यादा युवा भारत में होंगे। यूथ एक बड़ी पूंजी है, इसलिए आज शिक्षा व्यवस्था को इतना मजबूत और ज्ञानवर्धक किया जाए कि वह पूंजी भविष्य में देश को मजबूत कर सके।

इस मौके पर उन्होंने पब्लिक हेल्थ सिस्टम और बढ़ते कदम नामक पुस्तक का विमोचन भी किया। उन्होंने कहा कि आज आतंकवादी भी युवा हैं और अच्छी तकनीक हैं उनके पास लेकिन उनके रास्ते गलत ।इसलिए उनको चाहिए कि वह गलत कामों के रास्ते छोड़ दें ।श्री नायक ने सभा कक्ष में मौजूद बच्चों को 4 मूल मंत्र दिए उन्होंने कहा कि स्माइल, स्माइल, स्माइल एंड स्माइल। मतलब सामने वाला मुस्कुरा दे तो कार्य सुगम हो जाता उन्होंने कहा कि दूसरा मूल मंत्र लोगों का उत्साह वर्धन करना है यदि कोई बड़ा या छोटा अच्छा काम करें तो उसे कहना सीखो ।तीसरा की अवमानना करने से बचें ।निंदा करने से लोगों के रास्तों में बाधाएं आती हैं।चौथा और अंतिम की जो आप करें, उसे अच्छा करें ,अच्छा सोचें और उसको अपने जीवन में उतारे। श्री नायक ने अपना जीवन परिचय देते हुए कहा कि वह 5 बार सांसद रहे तीन बार विधायक और पेट्रोलियम मंत्री भी बने सिर्फ अपने इन्ही चार मूल मंत्रों के द्वारा। इस अवसर पर उन्होंने पत्रकार गिरजा शंकर पांडे को सम्मानित किया साथ ही विद्यालय की कई छात्राओं को भी सम्मानित करने का कार्य किया।

  • शिव कुमार दूबे (सुल्तानपुर)

Please Write Your Comments Below

Previous मऊ जिलापूर्ती अधिकारी के आगे धृतराष्ट्र साबित हो रहे शासन और मऊ जिला प्रशासन।
Next ऐतिहासिक नगरी खजुहा मैं खुदाई के दौरान सोने चांदी से भरी मिली तिजोरी