राम मनोहर लोहिया संयुक्त चिकित्सालय लखनऊ में लापरवाही से होता है लावारिस मरीजों का इलाज़ और सिर्फ खानापूर्ति


Ram Manohar Lohia Combined Hospital Lucknow leads to negligence in treatment of unclaimed patients.

  

राम मनोहर लोहिया संयुक्त चिकित्सालय लखनऊ में मानवता को शर्मसार करने वाला वाक़्या सामने आया है, जहाँ एक तरफ मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में चिकित्सीय सुविधाओं को सुधारने के लिए जी-जान से जुटे हैं वहीँ मेडिकल स्टाफ उसकी धज्जियाँ उड़ने में लगा हुआ है. SI न्यूज़ टुडे ने अपनी एक टीम को अचानक आज शाम की रविवार को लोहिया अस्पताल के ट्रामा सेंटर व् इमरजेंसी में लोगो के इलाज़ व अन्य सुविधाओं की जाँच के लिए भेजा तो वहां अवव्यस्थाओं का अम्बार मिला.

सबसे पहले तो महिला इमरजेंसी गेट से सटकर एक मानसिक विक्षिप्त अर्धनग्न महिला मिली, वहां से काफी लोग गुज़र रहे थे मगर उन्हें इस बात की न सुध थी और न ही वहाँ की सिक्योरिटी स्टाफ को इस बात की चिंता. जहाँ समाज में महिलाओं के सम्मान के लिए बड़ी बड़ी बातें होती हैं वहाँ एक मानसिक विक्षिप्त महिला अर्धनग्न पड़ी थी और लोग इत्मीनान से आ जा रहे थे.  की टीम ने को कॉल किया जिसमे Event ID- P28041911877 के लिए शिव कुमार सिंह जी ने बड़ी तत्परता से उक्त महिला को उसके वार्ड के बेड तक कपडे पहनवा कर पहुंचवाया.

        

इस बारे में जब वहाँ मौजूद सिस्टर से अपने मरीज के बारे में पूछा गया तो कोई संतोषजनक जवाब न दे सकीं और बोलने लगी कि आज ही मैं आयी हूँ. उनको ये नहीं पता होता कि वार्ड से मेरा मरीज कहाँ गया और अगर बाहर भेजा भी गया तो अर्धनग्न हालत में क्यों है. जबकि उनके अपने रिकॉर्ड में सारे मरीजों का कोई अता-पता नहीं था. पुलिस देखकर अपने रिकॉर्ड मेन्टेन करने लगीं.

              

परन्तु बात यहाँ तक भी नहीं थी, जिस जगह इन लावारिस मरीजों को भर्ती किया गया था वहाँ 1 मिनट भी रुकना नामुमकिन था. टीम के एक सदस्य को तो उल्टियां तक होने लगी. उन्होंने बताया कि उस कमरे में जाने पर ऐसा लग रहा था मानो जैसे कोई मांस सड़ रहा हो. इस बात से काफी चीज़ें सामने निकल कर आयीं कि किस प्रकार यहाँ लापरवाही से लावारिस मरीजों का इलाज़ होता है और सिर्फ खानापूर्ति की जाती है. साथ ही पीने के पानी के कूलर के पास इतनी गन्दगी कि प्यासा उलटे पाव वापिस आ जाता है.

आखिर अस्पताल प्रशासन के इस गैर जिम्मेदाराना रवैय्ये के लिए मरीजों को सजा क्यों भुगतनी पड़ती है ? जो लोग ये करते हैं या मरीजों से ढंग से बात नहीं करते वो शायद ये भूल जाते हैं कि इन्ही मरीजों की वजह से आज उनकी सरकारी नौकरी है..

Reported By- @TheSuneelMaurya 

Previous कौन हैं ये शख्स जो आजमगढ़ की सड़को पर चीखता चिल्लाता घूम रहा हैं?
Next SI News Today Exclusive : यूपी के अफसरों का कारनामा, लोक निर्माण विभाग में वरिष्ठ अभियंता बने कनिष्ठ