Posts in category

विचार


।।इल्ज़ाम।। एक इल्ज़ाम है मुझ पर, मैं रुख मोड़ लेता हूँ। मोहब्बत के इस दरिया में साथ यूँ छोड़ देता हूँ। किसी के डूबने के दर्द का तब एहसास होता है। खुद की नाकामियों को सोच,जब जज़्बात रोता है। इस इल्ज़ाम को अपने सर अब कब तक उठाऊं मैं। पराये दर्द से अपनो को,कब तक …

तेरे गालों की सुर्खियों की वजह है गुलाबी। और इन बेहिसाब गलतियों की सज़ा है गुलाबी। तेरे बालों की खुशबुओं की फिज़ा है गुलाबी। और इस बेनकाब चेहरे की हर खता है गुलाबी। इस लफ्ज़ से इकरार का रंग है गुलाबी। और इस मोहब्ब्त को ठुकराने का तेरा ढंग है गुलाबी। तेरे दिल को भेजा …

चिलम फूंक के धुत्त हो जाएं। भरी दुपहरिया हम जग जाएं। फेसबुक पर दंगा करवाएं। फिर चल कर नया देश बनाएं अपनी अलग फौज होगी। जंग नही बस मौज होगी। चौराहे पर गाल बजाएं। फिर चल कर नया देश बनाएं। बप्पा तो पैसा भेज रहे। आशा जानें क्यों देख रहे। उनसे बोलो, अब सो जाएं। …

जी हाँ , आपने सही सुना कि अगर आपको जम कर ऐय्याशी करनी हो तो आने वाली है बम्पर vacancy 2019 में दरअसल अगर आप सांसद बन गए तो आपको ये सुअवसर बहुत जल्द मिलेगा। जिस देश में 90% से ज्यादा सांसद अमीर है वो देखिये किस तरह से अपने ही देश में लूट मचा …

।।एक सीख।। बाप ही नहीं मिल एक अच्छा दोस्त बन कर। डर मत दिखा साथ रह तू,उसके साथ भी हँसकर। बाप ही नहीं मिल एक अच्छा दोस्त बन कर। अगर समझ जाता है तू ये बात। तो समझ लेगा  मासूम के हर हालात। क्या गुज़र रही है उसके साथ। कैसें हैं उसके आज ख़यालात। गर …

।।पथ।। जब निशि पावस की बेला हो । वीर पथ पर अकेला हो। न व्याकुल हो न कुंठित हो। न विपदा से आतंकित हो। एक दुर्लभ सी करवाल लिए। बरछी भाला और ढाल लिए।। साध्वस को भी कंगाल किए। यम संग गाये खड़ताल लिए। जब बढ़े रणभूमि के पथ पर। तब गिरे शत्रु  सब कट …

नज़्मों  के लिए अल्फ़ाजों में इख्तियार जरूरी है। जीने के लिए मोहब्बत भी कभी कभार जरूरी है।   तेरी आंखों का दीदार कर ये जान गए… मदहोशी में सनम का हर अल्फ़ाज़ फितूरी है। ये तो एक सलीका है मेरी इबादत का…. वरना मेरा तो हर अंदाज़ ही गुरूरी है।   फरेबी आंखों के गुनाहों …

मृत्युंजय दीक्षित भारत के प्रमुख पड़ोसी देश व पूरी दुनिया को सीधी चुनौती दे रहे चीन में अहम बदलाव हुआ है। चीन में एकदलीय राजनीति में सबसे बड़ा बदलाव हुआ है। वहां की संसद ने एक ऐतिहासिक संविधान संशोधन को मंजूरी दी है। ऐतिहासिक संशोधन के अनुसार राष्ट्रपति शी चिनफिंग दो कार्यकाल पूरा करनेे के …

मृतुन्जय दीक्षित भारतीय संस्कृति में होली के पर्व का अद्वितीय स्थान है। यह पर्व उमंग, उल्लास, उत्साह और जोश तथा मस्ती का पर्व है। होली का पर्व देश व समाज में सामाजिक समरसता को बढ़ावा देने वाला पर्व है। होली का पर्व जलवायु परिवर्तन का भी संकेत देता है । होली का पर्व हिंदू पंचांग …

मृत्युंजय दीक्षित राष्ट्रीय विज्ञान दिवस विज्ञान से होने वाले लाभों के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तत्वावधान में हर वर्ष 28 फरवरी को मनाया जाता है। विज्ञान दिवस का मूल उददेश्य तरूण विद्यार्थियों को विज्ञान के प्रति आकर्षित करने तथा प्रेरित करने तथा …