Saturday, May 25, 2024
featured

इन क्रिकेटर्स ने बतौर गेंदबाज शुरू किया था करियर, बाद में बने बल्लेबाज

SI News Today

तेजी से बदल रहे क्रिकेट के कारण खिलाड़ियों को भी खुद को बदलना पड़ रहा है। पहले खिलाड़ी या तो बॉलिंग या बैटिंग में ही महारथी होते थे। लेकिन अब खिलाड़ियों को समझ आ गया है कि अगर इस खेल में बड़ा मुकाम हासिल करना है तो अॉलराउंडर होना ही पड़ेगा। मगर विश्व क्रिकेट में कुछ एेसे भी खिलाड़ी हैं, जिन्होंने बतौर गेंदबाज करियर की शुरुआत की थी, लेकिन बाद में उन्होंने बैटिंग को चुना और टीम के धाकड़ बल्लेबाज बन गए।

केविन पीटरसन: 104 टेस्ट मैचों में 8181 रन बनाने वाले केविन पीटरसन किसी भी टीम की गेंदबाजी की बखिया उधेड़ सकते हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 23 सेंचुरी और 35 हाफ सेंचुरी लगाई हैं। वहीं 136 वनडे मैचों में उन्होंने 25 हाफ सेंचुरी और 9 सेंचुरी की मदद से 4440 रन बनाए हैं। लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि उन्होंने अपना करियर बतौर अॉफ स्पिनर शुरू किया था। लेकिन फेल वह फेल रहे। 270 अंतरराष्ट्रीय मैचों में उन्होंने केवल 17 विकेट चटकाए। 10 टेस्ट क्रिकेट में और 7 वनडे मैचों में।

स्टीव स्मिथ: अॉस्ट्रेलिया के मौजूदा कप्तान और विश्व क्रिकेट के सबसे खतरनाक बल्लेबाजों में से एक। लेकिन जब 2010 में उन्होंने करियर शुरू किया था तो वह एक लेग स्पिनर थे और आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करते थे। लेकिन उन्हें जल्द समझ आ गया था कि उनकी दाल बॉलिंग में नहीं गलेगी। 2010-11 की एशेज सीरीज में अॉस्ट्रेलिया को बुरी तरह हार मिली थी। इसके बाद खिलाड़ियों पर गाज गिरी और स्मिथ दो साल तक टेस्ट क्रिकेट नहीं खेल पाए। इसके बाद बतौर बैकअप बैट्समैन उन्होंने 2013 के भारत दौरे के लिए चुना गया। इसके बाद स्मिथ ने खुद को एेसा बदला, जिस पर आज भी लोग हैरान हैं

शोएब मलिक: 1999 में शोएब मलिक की दूसरा बहुत मशहूर हुई थी। लेकिन इसके बाद वह बैटिंग को तरजीह देने लगे और अब वह कभी-कभी गेंदबाजी करते नजर आते हैं। 2003 के आईसीसी विश्व कप के लिए उन्हें नहीं चुना गया था, लेकिन 2004 के एशिया कप में उन्होंने पाकिस्तान की जीत में अहम किरदार निभाया था। अब तक मलिक ने 252 वनडे में 6765 रन बनाए हैं, जिसमें 9 शतक और 39 अर्धशतक हैं। 35 टेस्ट मैचों में उन्होंने 1898 रन बनाए हैं, जिसमें 3 शतक और 8 अर्धशतक हैं।

कैमरन वाइट: भारत के खिलाफ 2008 में बतौर लेग स्पिनर शुरुआत की थी। लेकिन शोहरत की कहानी उन्होंने बल्ले से लिखी। 88 वनडे मैचों में उन्होंने कुल 12 विकेट चटकाए हैं। वहीं 4 टेस्ट मैचों में उनके नाम सिर्फ 5 विकेट हैं। लेकिन वनडे में उन्होंने 2037 और टेस्ट क्रिकेट में 146 रन बनाए हैं।

नासिर हुसैन: इंग्लैंड के महानतम कप्तानों में से एक हुसैन ने भी बॉलिंग से ही क्रिकेट में कुछ कर दिखाने की ठानी थी। बतौर लेग स्पिनर शुरुआत करने वाले नासिर बाद में नंबर 3 पर इंग्लैंड के लिए बल्लेबाजी करते थे। शुरुआती दिनों में वह बहुत काबिल लेग स्पिनर थे। वह एसेक्स अंडर-15 के लिए चयनित होने वाले सबसे युवा खिलाड़ी थे। नासिर ने 96 टेस्ट मैचों में 5764 रन बनाए हैं, जिसमें 14 शतक और 33 अर्धशतक शामिल हैं। वहीं 88 वनडे मैचों में उन्होंने 1 शतक और 16 अर्धशतक के साथ 2332 बनाए हैं।

SI News Today

Leave a Reply