Friday, February 23, 2024
featured

क्‍यों व‍िराट कोहली को राजकुमार शर्मा से कई बार खाने पड़े थे थप्‍पड़

SI News Today

भारतीय क्रिकेट टीम 1 जून से चैंपियंस ट्रॉफी खेलने के लिए इंग्लैंड रवाना हो चुकी है। इस मिनी वर्ल्ड कप में इस बार विराट कोहली देश की अगुवाई कर रहे हैं। ये युवा बल्लेबाज इस वक्त ना सिर्फ बेहतरीन फॉर्म में है बल्कि खुद आक्रामक रहकर टीम में भरपूर जोश भरने का माद्दा भी रखता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसी आक्रामकता के चलते विराट बचपन में अपने कोच राजकुमार शर्मा से कई बार झन्नाटेदार थप्पड़ भी खा चुके हैं।

जी हां, इसका खुलासा खुद उनके गुरु राजकुमार ने वरिष्ठ खेल पत्रकार विजय लोकापल्ली की किताब ‘ड्रिवेन: द विराट कोहली स्टोरी’ में किया था। राजकुमार बताया कि बचपन में विराट बेहद जिद्दी था। वह कई बार सीनियर्स के बीच घुस जाता और कहता कि साथी खिलाड़ी उसे आउट नहीं कर पाते हैं। इसलिए वह अपनों से बड़ों के साथ खेलना चाहता है। उस वक्त विराट की उम्र दस साल भी नहीं थी।

कोहली बचपन में अपनी बैटिंग को लेकर बेहद फिक्रमंद रहते थे। अगर विपक्षी टीम कम रन बनाकर आउट हो जाती तो विराट ओपनिंग करने की जिद करते और मासूमियत से कहते – ‘मुझे बैटिंग नहीं मिली तो?’ आपको जानकर हैरानी होगी कि उनके फेवरेट शिष्य विराट जब गलती करते तो कोच राजकुमार कोई नरमी नहीं बरतते थे। खुद राजकुमार ने बताया था कि, ‘मैं उसे सिर्फ डांटकर ही नहीं रुक जाता था। कई बार झन्नाटेदार थप्पड़ कारगर साबित होते थे।’ मदनलाल की कप्तानी वाली दिल्ली टीम में शामिल राजकुमार खुद 1989 में रणजी ट्रॉफी विजेता टीम के सदस्य रह चुके हैं। उस वक्त जो कोई राजकुमार को दूसरा फेंकते देखता उनकी तारीफ करते नहीं थकता था।

बता दें कि कोहली ने 179 वनडे मैचों में 90.76 की स्ट्राइक के साथ 7755 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका बेस्ट स्कोर 183 रहा है। मतलब इस मामले में वह धोनी के ही बराबर हैं। कोहली एकदिवसीय मैचों में 27 शतक और 39 अर्धशतक लगा चुके हैं। वहीं बात अगर टेस्ट की करें तो 57 मैचों में वह 55.80 की स्ट्राइक के साथ 4497 रन बना चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 16 शतक और 14 अर्धशतक भी जड़े हैं।

SI News Today

Leave a Reply