ताज़ा खबर:-

मऊ के खाद्य एवं रसद विभाग के भ्रष्टाचार की शिकायत जा सकती है मुख्यमंत्री दरबार, भ्रष्ट लिपिक धीरज कुमार अग्रवाल के काले कारनामो की खुल सकती है पोल

मऊ के खाद्य एवं रसद विभाग के भ्रष्टाचार की शिकायत जा सकती है मुख्यमंत्री दरबार, भ्रष्ट लिपिक धीरज कुमार अग्रवाल के काले कारनामो की खुल सकती है पोल

मऊ के खाद्य एवं रसद विभाग के भ्रष्टाचार की शिकायत जा सकती है मुख्यमंत्री दरबार, भ्रष्ट लिपिक धीरज कुमार अग्रवाल के काले कारनामो की खुल सकती है पोल

उत्तर प्रदेश के मऊ जनपद में लगातार हो रहे घोटालों की खबर एक बार फिर सुर्खियों में है, सूत्रों द्वारा ज्ञात हुआ है कि जिले में हो रहे खाद्यान्न चोरी की शिकायत अब मुख्यमंत्री दरबार मे पहुंच गई है जिससे जिले में हो रहे भ्रष्टाचार पर रोक लग सके। आपको ज्ञात होगा कि जिले में हो रहे भ्रष्टाचार में एक सिंडिकेट बहुत व्यापक रूप से सक्रिय है जिसका कर्ता धर्ता दबंग व भ्रष्ट लिपिक धीरज कुमार अग्रवाल माना जा रहा है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि जिले में बीते फरवरी माह के अंत मे पूर्ति निरीक्षक आनंद कुमार यादव द्वारा पत्रांक जारी कर यह बताया गया कि जिले में किस कदर भ्रष्टाचार व्याप्त है उनके अनुसार मऊ न०पा०परी० में करीब 25- 30% पात्र गृहस्थी राशन कार्ड व करीब 25 – 30% अंत्योदय राशन कार्ड फ़र्ज़ी किस्म के लग रहे हैं , उनके द्वारा यह बताया गया कि सरकारी ग्रामीण बैंक मुगलपुरा में कई राशन कार्ड ऐसे हैं जिसमे महिला मुस्लिम व दर्ज पुरुषों के नाम व जाती अलग अलग है, अतः उन्होंने यह भी बताया था कि इस तरह उनको कार्य करने में समस्या हो रही है। अब आप खुद इस भ्रष्टाचार की जड़ों की गहराइयों का आकलन कर सकते हैं जहाँ पर स्थानीय प्रशासन व सरकार में बैठे नेतागण मूक बने बैठे हैं। हमारे द्वारा आपको यह पूर्व में भी बताया गया है कि किस तरह जिले में कुछ ही दिन के अंतर में कार्ड व यूनिट में गजब ही बढ़ोतरी देखने को मिलती है। आपको जानकर हैरानी होगी कि हमारे द्वारा जाँच करने पर नगरपालिका में 01/04/2020 में कार्डों की संख्या 38,877 पायी जाती है जिसमे 1,81,756 यूनिट दर्ज मिलती है तथा लगभग एक महीने बाद ही 12/05/2020 को कार्ड संख्या बढ़ कर 40,926 व दर्ज यूनिट 1,94,644 हो जाती है, और इस तरह से एकाएक 1,749 कार्डों पर 12,888 यूनिटों में बढ़ोतरी हो जाती है, अतः पुनः हमारे द्वारा जांच करने पर हमने यह पाया कि 04/07/2020 में कार्ड संख्या में पुनः 2142 कार्डों की बढ़ोतरी के साथ कार्डों की संख्या 40,368 व यूनिटों की संख्या में 13090 की बढ़ोतरी के साथ यूनिट की संख्या बढ़ कर 20,7734 हो जाती है। अब इस तरह कार्ड व यूनिट में मात्र कुछ दिनों के बीच की बढ़ोतरी देख यह आश्चर्य होता है कि आखिर क्यों जिलाप्रशासन भ्रष्ट लिपिक धीरज कुमार अग्रवाल व जिलापूर्ति अधिकारी हिमान्शु द्विवेदी की जोड़ी पर नज़र इनायत किये बैठा है। यह हम सबको ज्ञात है की इस कोरोना महामारी में किस तरह सरकार हर थाली में राशन पहुंचाने की अपनी मंशा जाहिर कर चुकी है लेकिन वहीं मऊ जनपद में सरकार के मंशा के विपरीत जिलापूर्ति अधिकारी व दबंग व भ्रष्ट लिपिक धीरज कुमार अग्रवाल द्वारा लगातार राशन की चोरी की जा रही है। अब देखना है कि मुख्यमंत्री से शिकायत के बाद क्या जिलाप्रशासन भी इस भ्रष्ट सिंडिकेट को तोड़ने का मन बनाता है या फिर मूक दर्शक की भांति ही ये चोरी होता देखता है।

leave a comment

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this: