ताज़ा खबर:-

मेरा अधिकार राष्ट्रीयदल (मर्द) राजनीतिक पार्टी का कार्यकर्ता सम्मेलन।

मेरा अधिकार राष्ट्रीयदल (मर्द) राजनीतिक पार्टी का कार्यकर्ता सम्मेलन।

मेरा अधिकार राष्ट्रीयदल (मर्द) राजनीतिक पार्टी का कार्यकर्ता सम्मेलन।

बाइट – अभिषेक अग्रहवाल, वरिष्ठ नेता, मेरा अधिकार राष्ट्रीय दल (मर्द)।

Mera Adhikar Rashtriya Dal (MARD) Political Party Worker Conference at Lucknow.

 

लोकसभा चुनाव में वोट बैंक को लेकर तमाम पार्टियां जनता के बीच जाकर लुभावने वादे करके प्रचार प्रसार क रने में कोई कसर नही छोड़ रही हैं तो वहिं तमाम नई पार्टियां भी नजर आने लगी हैं और इसी कड़ी में “मेरा अधिकार राष्ट्रीय दल” राजनीतिक पार्टी के गठन के बाद लखनऊ के दारुलसफा B ब्लॉक में कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन किया गया इस मौके पर पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ताओ ने अपने विचार प्रकट किये साथ ही प्रदेश भर से आकर तमाम कार्यकर्ताओ ने सम्मेलन में शिरकत की ।

आपको बता दे मेरा अधिकार राष्ट्रीय दल 20 वर्षो से पुरूष हित की लड़ाई लड़ती आ रही हैं और इस बार चुनाव आयोग ने पार्टी को मान्यता दी है । इसी कड़ी में पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता अभिषेक अग्रहवाल ने बताया उनकी लड़ाई पुरूष विरोधी कानून के साथ है अपनी बात में इनका कहना है कि समाज व कानून की पुरूष विरोधी मानसिकता का परिणाम है कि देश मे हर 6 मिनट में पुरुष व हर 8 मिनट में विवाहित पुरूष आत्महत्या करने पर मजबूर हैं, पुरुषों के हितों की बात करते हुए इनका कहना है कि अभी तक झूठे मुकदमो में फंसे पुरुषों को न्याय दिलाने के मकसद से कई दफा आला अफसर व राजनेताओं के दरवाजों को उन्होंने खटखटाया पर किसी भी तरह का सकारात्मक परिणाम न मिलने की वजह से उन्हें पार्टी बनाकर राजनीति में आना पड़ा साथ ही इनका यह भी कहना है देश भर में महिला शशक्तिकरण को बढ़ावा दिया गया है तो वहिं पुरुषों के अधिकार उनसे छीने जा रहे है व देश की सरकारों को सिर्फ महिलाओं के वोट नजर आते है जबकि पुरषों की संख्या 51 प्रतिशत हैं और 1परिवार से जुड़े पुरूष के पास बहन,माँ,बेटी सभी महिलाओ के रूप हैं और समाज मे पुरूष विरोधी कानून के चलते, पुरुषों के साथ साथ इन महिलाओं पर भी अत्याचार हो रहा है व झूठे मुकदमों में पुरूष के साथ पुरूष के परिवार की महिलाओं पर भी कार्यवाही की जा रही हैं, जिससे हतोसाहित होकर पुरुष आत्महत्या करने पर मजबूर हो रहे है जबकि परिवारिक झगड़ो,दहेज प्रथा,यौन उत्पीड़न जैसे ज्यादातर मुकदमे झूठ साबित हुए हैं ।

Reported by- Khurshid Alam.

leave a comment

Create Account



Log In Your Account