Sunday, April 14, 2024
featuredदेश

मोदी सरकार का अनोखा फैसला: एक वैद्य को बनाया आयुष मंत्रालय का सचिव

SI News Today

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए पहली बार किसी गैर आईएएस अफसर को सीधे किसी मंत्रालय का सचिव नियुक्त किया है। आरएसएस से जुड़े वैद्य राजेश कोटेचा को मोदी सरकार ने आयुष मंत्रालय में विशेष सचिव बनाया है। इससे पहले वो जामनगर स्थित गुजरात आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलपति रह चुके हैं। इससे पहले एनडीए सरकार ने एक आईएएस अधिकारी, परमेश्वरम अय्यर को भी सेवानिवृति के बाद भी पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय का सचिव बनाया था। कोटेचा की नियुक्ति तीन साल के लिए की गई है। वो एक आयुर्वेदिक डॉक्टर हैं और उनकी पत्नी मीता जयपुर स्थित राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान में शिक्षिका हैं।

54 साल के कोटेचा खुद को गुजराती उद्यमी कहते हैं। जब नरेंद्र मोदी भाजपा के महासचिव थे, तब उन्होंने इनके पहले व्यवसाय का उद्घाटन किया था। नरेंद्र मोदी सरकार बनने के बाद साल 2015 में इन्हें पद्म श्री से सम्मानित किया गया। कोटेचा वर्ल्ड आयुर्वेद फाउंडेशन के ट्रस्टी भी हैं। यह फाउंडेशन आरएसएस के विंग विज्ञान भारती की पहल पर आधारित है। कोटेजा विज्ञान भारती के सलाहकार भी हैं। विज्ञान भारती देश में विज्ञान एवं तकनीकि आंदोलन को बढ़ावा देने के लिए आरएसएस द्वारा शुरू किया गया एक विशाल आंदोलन है।

कोटेचा ने 29 जून को आयुष मंत्रालय के विशेष सचिव का पदभार संभाल लिया है। सरकार के 20 जून के आदेश में कहा गया है कि जब तक कोटेचा पदभार संभाल न लें और मंत्रालय के कामकाज से तालमेल ना बैठा लें तबतक स्वास्थ्य सचिव सीके मिश्रा हर शंका का समाधान करने के लिए उत्तरदायी होंगे। कोटेचा ने कहा कि वो नरेंद्र मोदी से सबसे पहले 1998 में मिले थे, जब मोदी उनके चक्रपाणि क्लिनिक का उद्घाटन करने जयपुर आए थे। उस समय मोदी बीजेपी के महासचिव थे।

कोटेचा ने उन तथ्यों को नकार दिया कि गैर आईएएस व्यक्ति विशेष सचिव की जिम्मेदारी एक आईएएस अफसर की तरह नहीं निभा सकता। उन्होंने कहा कि मुझे इस पर कुछ नहीं कहना है सिवा इतना कि हर किसी शख्स की अपनी-अपनी कमजोरियां और खूबियां होती हैं। उन्होंने कहा कि यह बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। इसलिए यह आईएएस और गैर आईएएस के बीच तुलना करने का समय नहीं है। उन्होंने कहा कि एक आईएएस बहुत कुछ कर सकता है लेकिन एक टेक्नोक्रेट होने के नाते मैं वो बहुत कुछ कर सकते हैं जो एक आईएएस नहीं कर सकता।

SI News Today

Leave a Reply