Thursday, July 25, 2024
featuredदेश

6 साल से फरार चल रही इंदिरा बिश्नोई को एटीएस ने किया गिरफ्तार

SI News Today

बहुचर्चित भंवरी देवी हत्याकांड में राजस्थान आतंक विरोधी दस्ते (एटीएस) ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। यहां एटीएस ने भंवरी देवी अपहरण और हत्या की सह आरोपी इंदिरा बिश्नोई को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मामले में जानकारी देते हुए बताया कि पूर्व कांग्रेस विधायक मलखान सिंह बिश्नोई की बहन इंदिरा बिश्नोई नरमदा नदी के पास एक आश्रय में छिपी हुई थीं। इंदिरा पर पांच लाख रुपए का इनाम था। आज (3 मई, 2017) उन्हें जोधपुर में सीबीआई को सौंप दिया जाएगा। देवास के एसीपी अनिल पाटीदार ने पीटीआई को बताया कि राजस्थान पुलिस ने मध्यप्रदेश पुलिस की मदद से इंदिरा बिस्नोई को नेमावर इलाके से बीती रात गिरफ्तार किया। जानकारी के लिए बता दें कि पेशे से नर्स और दाई भंवरी देवी का जोधपुर के बिलारा क्षेत्र से 1 सितंबर 2001 को अपहरण कर लिया गया था और बाद में उनकी हत्या कर दी गई। वहीं अन्य गैंग ने उनके शव को जलाने के बाद नहर में फेंक दिया था।

करीब चार महीने बाद पुलिस ने शव का बचा हुआ हिस्सा बरामद किया था। बता दें कि इंदिरा बिश्नोई भंवरी देवी अपहरण और मर्डर केस में नाम आने के बाद से ही फरार चल रही थीं और इस बीच उन्होंने अपने मोबाइल और एटीएम का भी इस्तेमाल नहीं किया। इस मामले में एक पूर्व मंत्री और एक विधायक सहित 16 आरोपी जेल में है। लापता होने से पहले इंदिरा बिश्नोई ने मीडिया के सामने यह भी कहा कि उन्होंने मुंह खोल दिया तो कई बड़े लोग संकट में आ जाएंगे।

SI News Today

Leave a Reply