Thursday, July 25, 2024
featuredबिहार

बिहार: तेज प्रताप यादव ने ज्योतिषी की सलाह पर बदला घर का मेन गेट

SI News Today

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव को एक ज्योतिषी की दी गई सलाह ने उनके पटना स्थित आधिकारिक निवास के पीछे बने झुग्गी-झोंपड़ी में रहने वालों का जीना मुहाल कर दिया है। टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप (29) ने 3, देशरत्न मार्ग स्थित अपने निवास का मेन गेट बंद करा दिया है और 3 एकड़ में फैले निवास के पीछे वाले गेट से आ जा रहे हैं। 200 मीटर का यह छोटा सा रास्ता एक झुग्गी से होकर गुजरता है।

दरअसल ज्योतिषी ने तेज प्रताप से कहा है कि वह दक्षिण दिशा से निकलकर उत्तर की ओर जाएं। ज्योतिषी अचलेश लंदन ने बताया कि वास्तु के मुताबिक दक्षिण की तरफ का दरवाजा यम की दिशा होती है यानी मौत का दरवाजा। जबकि उत्तर की दिशा को कुबेर की दिशा कहा गया है। यहां के निवासियों का कहना है कि स्वास्थ्य मंत्री की लगातार आवाजाही से उनकी जिंदगी काफी प्रभावित हुई है। बच्चे अब घर के बाहर नहीं खेल सकते। लोगों आराम से अपने मकानों के बाहर बैठ नहीं सकते। मंत्री के सुरक्षा गार्डों ने उस रास्ते में किसी भी टू-व्हीलर की पार्किंग पर रोक लगा दी है, ताकि मंत्री के काफिले के आने-जाने में मुश्किल न हो। पिछले 50 वर्षों से 100 लोग 20 झुग्गियों में रह रहे हैं।

झुग्गी में रहने वाले एक शख्स ने कहा, हम बिना किसी डर के वर्षों से यहां रह रहे थे। लेकिन जबसे स्वास्थ्य मंत्री ने अपने बंगले में आने-जाने के लिए पीछे का दरवाजा चुना है, तब से हमारी जिंदगी नर्क बन गई है। जब तेज प्रताप का 8 गाड़ियों वाला काफिला वहां से गुजरता है तो लोग डर के मारे अपने घरों का दरवाजा बंद कर लेते हैं। एक अन्य निवासी ने कहा कि इसी रास्ते से अब आरजेडी के युवा नेता और धर्मनिर्पेक्ष सेवक संघ के कार्यकर्ता भी अपनी मोटरबाइक पर आते हैं। इस जगह कभी कोई आता नहीं था, वह अब मंत्रियों और सरकारी अधिकारियों के तेज प्रताप से मिलने का रास्ता बन गया है।

यूं तो तेज प्रताप और तेजस्वी यादव 10 सर्कुलर रोड पर अपने माता-पिता के साथ रहते हैं, लेकिन तेज प्रताप अपने आधिकारिक निवास को निजी कार्यक्रमों के लिए इस्तेमाल करते हैं। उन्होंने यहां एक वॉर रूम भी स्थापित किया हुआ है, जहां से वह अपना डीएसएस और सोशल मीडिया टीम चलाते हैं। पीछे से नया रास्ता बनाने के लिए 3 देशरत्न मार्ग पर काम  जारी है और 5 झुग्गियों को तोड़ दिया गया है।

SI News Today

Leave a Reply