Thursday, April 18, 2024
featuredबिहार

लालू यादव ने नीतीश से कहा, ‘ऐतिहासिक भूल न करे

SI News Today

विपक्ष की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार मीरा कुमार को ‘दलित की बेटी’ करार देते हुए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने गुरुवार को कहा कि जनता दल (युनाइटेड) का राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के समर्थन का फैसला एक ऐतिहासिक भूल है और इसे सुधारने की अपील की। कांग्रेस के नेतृत्व में 17 विपक्षी पार्टियों की बैठक के बाद मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाने के फैसले की घोषणा के बाद लालू ने संवाददाताओं से कहा, “आज मैं (बिहार के मुख्यमंत्री) नीतीश कुमार से अपील कर रहा हूं कि वह अपने फैसले पर पुनर्विचार करें और बिहार की बेटी का समर्थन करें।”

लालू ने कहा, “ऐतिहासिक भूल मत कीजिए। यह आपकी पार्टी का गलत फैसला (रामनाथ कोविंद का समर्थन) है। राजद अध्यक्ष की यह टिप्पणी जद (यू) द्वारा 17 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में कोविंद के समर्थन की घोषणा करने के एक दिन बाद आई है। यहां हुई बैठक में जद (यू) शामिल नहीं हुआ। लालू प्रसाद की राजद, नीतीश कुमार की जद (यू) तथा कांग्रेस बिहार में महागठबंधन सरकार के हिस्सा हैं। लालू ने कहा कि वह नीतीश कुमार से मुलाकात करेंगे और कोविंद का समर्थन करने के फैसले पर पुनर्विचार करने का अनुरोध करेंगे। उन्होंने कहा, “मैं कल (शुक्रवार) पटना जा रहा हूं और इस बारे में उनसे बात करूंगा। मैं उनसे कहूंगा कि रामनाथ कोविंद का समर्थन कर वह ऐतिहासिक भूल नहीं करें। उन्हें विचारधारा की लड़ाई नहीं छोड़नी चाहिए।”

राजद अध्यक्ष ने कहा कि वह नीतीश कुमार ही थे, जिन्होंने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्ष को एकजुट करने की पहल की थी। लालू ने कहा, “नीतीश ने कहा था कि वह विपक्षी उम्मीदवार का समर्थन करेंगे। लेकिन उनकी पार्टी ने व्यक्तित्व के आधार पर कोविंद का समर्थन करने की कल घोषणा की।” उन्होंने कहा, “पसंद व्यक्तित्व के आधार पर नहीं, बल्कि विचारधारा के आधार पर होनी चाहिए।

राजद नेता ने कहा, “हमें फासीवादी ताकतों को रोकने के लिए साथ आए हैं। घोषणा से पहले राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम पर विचार-विमर्श न करने को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर हमला करते हुए लालू ने कहा, “इसकी घोषणा से पहले भाजपा ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को लेकर अपनी पसंद के बारे में किसी से चर्चा नहीं की। उन्होंने कहा, “हमारे लिए इसके बदले वे क्या कर रहे हैं? वह मुझपर समर्पण करने के लिए दबाव डाल रहे हैं।

राजद अध्यक्ष ने स्पष्ट किया कि जद (यू) द्वारा कोविंद को समर्थन करने के बावजूद बिहार सरकार पर कोई खतरा नहीं है। उन्होंने कहा, “उन्होंने हमारे साथ विश्वासघात किया या नहीं, यह वही जानते हैं। हमारी वहां गठबंधन सरकार है और सरकार पर कोई खतरा नहीं है। हमारी सरकार को कोई खतरा नहीं है।”

SI News Today

Leave a Reply