Wednesday, July 24, 2024
featuredदिल्ली

गुरुग्राम गैंगरेप केस: आरोपियों का सुराग बताने वाले को दो लाख का इनाम

SI News Today

चलती कार में नार्थ-ईस्ट की महिला के साथ हुए गैंगरेप के मामले में कमिश्नरी की पुलिस ने सुराग बताने वालों को दो लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की है। पुलिस ने छानबीन के लिए तीन लोगों को हिरासत में लिया था, जिन्हें बाद में छोड़ दिया।
एसआईटी प्रभारी डीसीपी क्राइम सुमित कुमार का कहना है कि पुलिस ने आरोपियों तक पहुंचने के लिए उनका सुराग देने वालों को दो लाख रुपये के इनाम की घोषणा की है।

पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार ने मामले का खुलासा करने के लिए एसआईटी का गठन किया, जिसमें डीसीपी क्राइम के नेतृत्व में कमिश्नरी के छह पुलिस कर्मी शामिल हैं।

पुलिस ने मामले की जांच के लिए वारदात में प्रयोग होने वाले रूट का खाका भी खींचा है। इसके साथ शिकायत करने वाली महिला के बयान के आधार पर छानबीन कर रही है।

आरोपी के मिले चप्पल पर अटकी जांच की सूई

साइबर सिटी में नार्थ-ईस्ट महिला के साथ हुए गैंगरेप मामले में छह दिन बीतने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। पिछले छह दिन से पुलिस मोबाइल व सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बदमाशों तक पहुंचने का प्रयास कर रही थी। पुलिस की जांच अब पीड़िता के पैर में आरोपी के मिले चप्पल के इर्द-गिर्द घूम रही है।

चलती कार में महिला से गैंगरेप के बाद आरोपियों ने पीड़िता को चप्पल देकर वापस छोड़ा था। जिसके सहारे पुलिस को आरोपी तक पहुंचने की उम्मीद है। सोमवार शाम को हिरासत में लिए गए तीन युवकों से पूछताछ के बाद किसी तरह का खुलासा न होने पर उन्हें महिला के पास मिली चप्पल पहनाई गई, लेकिन आरोपियों के पैर में चप्पल नहीं आई।

गौरतलब है कि महिला ने अपने बयान बताया है कि आरोपी उसे जबरन कार में डालकर ले गए। वारदात के बाद उसे जब छोड़ा तो उसके पास चप्पल नहीं था। आरोपियों में से एक युवक ने उसे अपना चप्पल देकर छोड़ा था। ऐसे में क्राइम ब्रांच के लिए चप्पल आरोपी तक पहुंचने का जरिया बनी हुई है।

चप्पल की हालत से यह बात नहीं साबित हो रही है कि चप्पल किसी हाई-फाई व्यक्ति की हो। पुलिस को इस बात का अंदाजा है कि वारदात के पीछे रात कैब चलाने वालों का गिरोह भी हो सकता है। जो महिला के विषय में पूरी जानकारी रखते हैं।

SI News Today

Leave a Reply