ताज़ा खबर:-

दरक्ते रिश्तो के बीच कांस्टेबल ने दी नई मिसाल, अपना खून देकर बचायी युवक की जान

दरक्ते रिश्तो के बीच कांस्टेबल ने दी नई मिसाल, अपना खून देकर बचायी युवक की जान

दरक्ते रिश्तो के बीच कांस्टेबल ने दी नई मिसाल, अपना खून देकर बचायी युवक की जान

Constable has given a new example, saving a life of the young man by giving his blood.

     

समाज में दरक्ते रिश्ते और घटते आत्मविश्वास के बीच जहा कुछ पैसे के लेन-देन में मित्रता दुश्मनी में बदल जाती हो और मित्र मित्र की जान लेने पर और उसकी जिंदगी छीन लेने पर आमादा हो और इस नियत से एक सुनसान इलाके में उस मित्र को फोन से बुलाकर चाकू से प्रहार करता हो उस बीच कांस्टेबल आशीष कुमार जो अपना खून दे कर उस युवक की जान बचाता है यह कोई साधारण बात नही है। दरअसल हुआ यूं कि कुशीनगर जिले के सेवरही थानांतर्गत कुछ पैसे के लेन-देन में एक दोस्त दूसरे दोस्त का खून का प्यासा बन बैठा और दो दोस्तों के पेट में चाकू मारकर उनकी इह लीला समाप्त करने की योजना को मूर्त रुप दे डाली। तभी पुलिस और ग्रामीणों के सहयोग से उन दोनों घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सेवरही पहुंचाया गया था जहां से डॉक्टरों ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए उन दोनों घायलों को मेडिकल कॉलेज गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया। सेवरही थाने से कार्यरत कांस्टेबल आशीष यादव को उनकी निगरानी के लिए साथ में मेडिकल मेडिकल कॉलेज भेजा गया जहां अधिक खून निकल जाने के बाद एक युवक की हालत बेहद नाजुक हो गई। उसे तुरंत क्यों खून नहीं दिया जाता तो वह काल के गाल में समा जाता, अपनों ने खून नही दिया जब इस बात को आशीष ने सुना तो वह बिना देर किए अपना खून दे कर घायल युवक की जान बचा ली। क्षेत्रीय लोगों और जनप्रतिनिधियों ने पुलिस अधीक्षक कुशीनगर से इस कांस्टेबल को पुरस्कृत करने की मांग किया है।

इससे पहले ये हुआ था – रुपए के लेन देन में युवक ने दो युवकों को चाकू गोदा, मेडिकल कॉलेज में भर्ती

  • हरेंद्र कुमार द्विवेदी (पत्रकार)

leave a comment

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this: