Wednesday, July 24, 2024
featuredलखनऊ

पिता की मौत के बाद हीरो से विलेन बना ये एक्टर

SI News Today

लखनऊ. करीब 250 फिल्मों में हीरो और विलेन का रोल निभा चुके तेज सप्रू हाल ही में स्टार प्लस के नए शो “आरम्भ” के प्रमोशन के लिए लखनऊ पहुंचे। बातचीत में उन्होंने पर्सनल लाइफ से जुड़ी बातें शेयर की।
एक्टिंग में नहीं स्पोर्ट्स में था इंट्रेस्ट
– तेज ने बताया, ”मेरे पिता डी.के सप्रू, मां हेमवती और बहन प्रीती सप्रू सभी का हिंदी सिनेमा से ताल्लुक है। इसलिए एक्ट‍िंग मुझे विरासत में मिली। मशहूर विलेन जीवन मेरे चाचा थे।”
– ”मैं स्पोर्ट्समैन था, क्रिकेट-बैडमिंटन में मेरी दिलचस्पी थी। शूटिंग पर जाता तो था लेकिन मेरा मन स्पोर्ट्स में ही लगा रहता था।”
– ”एक दिन पिता जी ने कहा, रविकांत को फिल्म ‘सुरक्षा’ के लिए एक हीरो चाहिए। एक मिथुन है, दूसरा हीरो नहीं मिला, तू जा के मिल ले। फिर मैं अपने जीजा राकेश नाथ के साथ उनसे मिलने गया। डायरेक्टर मुझे दूर से देखते ही बोले कि यही होगा मेरी फिल्म का हीरो। वहीं से एक्ट‍िंग का सफर शुरू हो गया।”
– ”एक दो फिल्म में हीरो बनने के बाद मुझे विलेन बनने का ऑफर आने लगा। 1979 जून में फिल्म ‘सुरक्षा’ रिलीज हुई और अक्टूबर में पिता जी की तबियत खराब हो गई।”
– ”मैं पिता के पास रहने लगा। उन्हें कैंसर हो गया था। उनका ऑपरेशन हुआ और वो घर आ गए। मुझसे कहा- आज रात तेरी फिल्म देखने चलूंगा। उस दिन 20 अक्टूबर था, हम दीवाली पूजन के लिए बाहर गए थे। घर लौटे तो पिता की सांसे बंद हो चुकी थी।”
– ”उनके देहांत के बाद फैमिली की जिम्मेदारी मेरे कंधों पर आ गई। उस समय पैसा बहुत कम मिलता था और परिवार बड़ा था। इसलिए उस समय मुझे जो भी रोल मिले, वो करता चला गया। ज्यादातर विलेन के ही रोल मिलते रहे।”
– ”आज भी मुझे उस बात का मलाल है कि पिताजी उस रात मेरी फिल्म नहीं देख पाए।”
तो इसलिए छोड़ दिया हिंदी सिनेमा में काम करना

– तेज कहते हैं, ”मैंने आज तक हर मूवी में खुद एक्शन किया। चाहे तीन माले से गिरना हो या आग में कूदना। लेकिन इसका एक नुकसान ये हुआ कि जो मेरे बराबर के थे, मुझे उनका बेटा बनकर एक्शन करना पड़ा।”
– ”प्रेम चोपड़ा, परेश रावल, गुलशन ग्रोवर, मैंने सबके बेटे का रोल किया। क्योंकि वो लोग सफेद बाल लगा के खड़े हो जाते थे, ताकि एक्शन न करना पड़े। इसीलिए मैंने हिंदी सिनेमा करना छोड़ दिया।”
– ”अब टेलीविजन इंडस्ट्री काफी बड़ी हो गई है, मुझे यहां अच्छे रोल मिल रहे हैं। मैं अपने करियर से पूरी तरह खुश हूं। सबसे बड़ी बात ये है कि इंडस्ट्री का मैं इकलौता एक्टर हूं, जिसने 13 जुबानो में फिल्में की है।”

SI News Today

Leave a Reply