Thursday, July 18, 2024
featuredलखनऊ

विधान परिषद उपचुनाव का मतदान 15 सितंबर को…

SI News Today

लखनऊ: निर्वाचन आयोग ने विधान परिषद की चार सीटों के लिए उपचुनाव का कार्यक्रम घोषित कर दिया है। विधान सभा सदस्यों द्वारा निर्वाचित विधान परिषद के चार सदस्यों के अपने पद से त्याग पत्र दे दिए जाने के कारण ये सीटें रिक्त हुई हैं। आयोग ने 15 सितंबर को मतदान और मतगणना का कार्यक्रम तय किया है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी अमृता सोनी ने बताया कि नामांकन 29 अगस्त, 2017 से शुरू होगा जो पांच सितंबर तक किया जा सकेगा। छह सितंबर से नामांकन की जांच होगी और आठ सितंबर को नाम वापसी होगी। 15 सितंबर को मतदान होगा। मतदान सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक होगा। शाम पांच बजे तक मतगणना होगी। आयोग ने निर्वाचन संपन्न करा लेने के लिए 18 सितंबर आखिरी तारीख तय की है।

ये चार सीटें बुक्कल नवाब, यशवंत सिंह, डॉ. सरोजिनी अग्रवाल और अशोक बाजपेई के त्यागपत्र से रिक्त हुई हैं। बुक्कल और यशवंत की सीट की रिक्ति 29 जुलाई, 2017 जबकि डॉ. सरोजिनी की चार अगस्त, 2017 और अशोक बाजपेई की नौ अगस्त, 2017 से रिक्त है। बुक्कल और यशवंत का कार्यकाल छह जुलाई, 2022 तक तथा सरोजिनी और बाजपेई का कार्यकाल 30 जनवरी 2021 तक था।

तीन रिक्त सीटों पर कार्यक्रम नहीं
भारत निर्वाचन आयोग ने चार रिक्त सीटों पर उप चुनाव का कार्यक्रम घोषित कर दिया है लेकिन तीन अन्य रिक्त सीटों पर कार्यक्रम घोषित नहीं किया है। इनमें दो सीटों विधानसभा सदस्यों द्वारा निर्वाचित अंबिका चौधरी और ठाकुर जयवीर सिंह के इस्तीफे से रिक्त हैं, जबकि तीसरी स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र बदायूं से चुने गए बनवारी सिंह यादव के निधन से रिक्त हैं। बनवारी सिंह यादव का निधन मार्च में हो गया था। पांच माह से ज्यादा समय से रिक्त सीट पर अधिसूचना न होने के निहितार्थ निकाले जा रहे हैं। जहां तक अंबिका और जयवीर की रिक्त सीट का सवाल है तो विशेषज्ञों का कहना है कि दोनों का कार्यकाल एक वर्ष से भी कम बचा है। ऐसे में निर्वाचन नहीं कराया जाएगा।

SI News Today

Leave a Reply