Saturday, April 20, 2024
featuredदेश

भारतीय मौसम विभाग (आइएमडी) द्वारा अच्छी बारिश के दिए गे संकेत

SI News Today

देश के किसानों, अर्थव्यवस्था और पानी की किल्लत से जूझ रहे प्रदेशों के लिए एक अच्छी खबर है कि इस साल दक्षिण पश्चिम मॉनसून सामान्य रहेगा। भारतीय मौसम विभाग (आइएमडी) द्वारा मंगलवार को जारी पूर्वानुमान के मुताबिक, देशभर में अच्छी बारिश होगी। पूर्वानुमान में कहा गया है कि इस बार देश में 96 फीसद दीर्घावधि औसत बारिश होगी। हालांकि, वर्ष 2016 में आइएमडी ने सामान्य से ज्यादा बारिश का अनुमान जताया था, लेकिन सामान्य बारिश ही हो सकी।  दक्षिण-पश्चिम मॉनसून का ऋतु-2017 के प्रथम चरण का पूर्वानुमान जारी करते हुए भारतीय मौसम विभाग के महानिदेशक केजे रमेश ने कहा कि पूरे देश में मॉनसून सीजन यानी जून से सितंबर तक अच्छी बारिश होगी। इस साल देश में 96 फीसद दीर्घावधि औसत बारिश का अनुमान है। 96 फीसद से 104 फीसद के बीच दीर्घावधि बारिश को ‘सामान्य’ माना जाता है, 96 फीसद से कम को ‘सामान्य से कम’ और 104 से 110 फीसद दीर्घावधि बारिश को ‘सामान्य से ज्यादा’ माना जाता है। जून के आरंभ में विभाग की तरफ से दूसरे चरण का पूर्वानुमान जारी किया जाएगा जिसमें जुलाई और अगस्त महीने में होने वाली बारिश की मात्रा के बारे में बताया जाएगा, साथ ही पूरे मॉनसून के दौरान देश के विभिन्न हिस्सों में होने वाली बारिश का भी अनुमान जारी किया जाएगा।

आइएमडी के मुताबिक अभी जो ताजा हालात हैं वह इस साल मॉनसून सीजन के उत्तराार्ध के दौरान कमजोर अल-नीनो स्थितियों के विकास का संकेत दे रहा है। हालांकि, आइएमडी का कहना है कि अल-नीनो और भारतीय मॉनसून के बीच कोई प्रत्यक्ष संबंध नहीं है और 34 फीसद अल-नीनो वर्षों के दौरान मॉनसून सामान्य या सामान्य से अधिक रहा है। आइएमडी के मुताबिक, ‘पिछले साल मॉनसून ऋतु के उत्तरार्ध में कमजोर ला-नीनो स्थितियां बनी थीं जो दिसंबर आते-आते अपने चरम पर थीं और उसके बाद कमजोर होनी शुरू हो गई। वर्तमान में भूमध्यरेखीय प्रशांत पर तटस्थ स्थितियां बनी हुई हैं। प्रशांत के ऊपर वायुमंडलीय स्थितियां, तटस्थ अल-नीनो दशाएं बाकी भी प्रदर्शित कर रही हैं। मौसम विभाग ने यह भी कहा है कि नवीनतम पूर्वानुमान से मॉनसून सीजन के मध्य में कमजोर पॉजिटिवि आइओडी (हिंद महासागर द्विध्रुव) के संकेत मिल रहे हैं जिसके कुछ और माह तक बने रहने की संभावना है। आइएमडी के मुताबिक, पॉजीटिव आइओडी स्थितियों के सामान्य या सामान्य से अधिक मॉनसून के लिए अनुकूल होने की संभावना है। हालांकि, विभाग अपने दूसरे चरण के पूर्वानुमान के दौरान अल-नीनो और आइओडी के विकास की और जानकारी दे पाएगा।

पिछले साल आइएमडी की ओर से जारी सामान्य से अधिक बारिश के पूर्वानुमान के विपरीत देश में औसतन सामान्य बारिश हुई थी, वहीं दक्षिण प्रायद्वीप में कम बारिश हुई थी और तमिलनाडु, कर्नाटक और केरल के कई हिस्सों में सूखे की स्थिति बन गई थी। इस साल बारिश के अच्छे वितरण के पूर्वानुमान के बीच देश के ये हिस्से अच्छी बारिश की अपेक्षा में हैं। देश में मॉनसून के आगमन की सामान्य तिथि 1 जून है। अगर स्थितियां सामान्य रहीं तो 1 जून को केरल में दस्तक देने वाला मॉनसून जुलाई मध्य तक पूरे देश को कवर कर सकता है।

SI News Today

Leave a Reply