Could create table version :No database selected मऊ जनपद में सत्ता की सह पर डीसीएसके पीजी कॉलेज के छात्र नेताओं द्वारा आईकॉन अस्पताल से माँगी जा रही पाँच लाख की रंगदारी। - SI News Today
ताज़ा खबर:-

मऊ जनपद में सत्ता की सह पर डीसीएसके पीजी कॉलेज के छात्र नेताओं द्वारा आईकॉन अस्पताल से माँगी जा रही पाँच लाख की रंगदारी।

मऊ जनपद में सत्ता की सह पर डीसीएसके पीजी कॉलेज के छात्र नेताओं द्वारा आईकॉन अस्पताल से माँगी जा रही पाँच लाख की रंगदारी।

मऊ जनपद में सत्ता की सह पर डीसीएसके पीजी कॉलेज के छात्र नेताओं द्वारा आईकॉन अस्पताल से माँगी जा रही पाँच लाख की रंगदारी।

In the district of Mau on the co-operation of power, the student leaders of DCSK PG College asked for five lakh extortion demands from the Icon Hospital.

#CrimeNews #Mau #ExtortionDemands #MauPolice

उत्तर प्रदेश का मऊ जनपद अब अपनी सारी आपराधिक सीमाओं को पार कर चुका है, जहाँ एक तरफ प्रशासन अंसारी सिंडिकेट को तोड़ने में अपना पूरा जोर लगाए हुए है। वहीं दूसरी तरफ स्थानीय सत्ता के करीबियों द्वारा जिले में रंगदारी का खेल शुरू हो चुका है। आपको बता दें जिले में स्थित आईकॉन हॉस्पिटल के निदेशक राहुल शुक्ला ने तन्मय सिंह व आलोक सिंह नामक दो युवकों पर 5 लाख रंगदारी मांगने का आरोप लगाया है।

राहुल शुक्ला के अनुसार पहले भी इन दो युवकों द्वारा चंदे के नाम पर जबरन वसूली की जाती रही है, लेकिन इस बार दोनों युवकों द्वारा पांच लाख की राशि की मांग की गई है। राहुल शुक्ला का कहना है कि इस सम्बन्ध में उनके द्वारा पुलिस से भी शिकायत की गई है, लेकिन स्थानीय बड़े सम्मानित भाजपा नेता का करीबी होने के कारण पुलिस भी इन दो युवकों पर कोई कार्यवाही नहीं कर रही है। आपको बता दें तन्मय सिंह व आलोक सिंह नामक युवक पूर्व में भी आपराधिक गतिविधियों में शामिल रहें है इन पर नगर कोतवाली मऊ में मामले लंबित हैं जिस पर पुलिस द्वारा कुछ मामलों में स्थानीय राजनीतिक दबाव के कारण अब तक कोई भी कार्यवाही नहीं हुई है।

एक तरफ जहाँ प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा जड़ से अपराध को खत्म करने की बात की जा रही हैं वहीं दूसरी तरफ उनके ही पार्टी के नेताओं के करीबियों द्वारा सत्ता सह पर खुलेआम जिले में रंगदारी का खेल खेला जा रहा है,जो कि नवागत पुलिस अधीक्षक घुले सुशील चन्द्रभान के लिए किसी चुनौती से कम नही है, जिस पर जिलाप्रशासन व पुलिस भी मौन धारण किये हुए है। पुलिस अगर इस मामले की तह तक जा कर जांच करे तो,कुछ बड़े सत्ताधीश नेताओं के कारनामें खुलते नजर आएंगे।

 

leave a comment

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this: