Sunday, May 19, 2024
featuredदेश

सट्टेबाजी मामला: दो खिलाड़ियों से नयन की थी सेटिंग

SI News Today

आईपीएल 10 के दौरान कानपुर के नामी गिरामी होटल से गिरफ्तार किए गए सटोरियों को लेकर एक और नया खुलासा हुआ। होटल लैंडमार्क में खिलाड़ियों के कमरों के पास रुके सटोरिये नयन रमेश शाह के फोन से क्राइम ब्रांच को कई ऐसी वॉइस रिकॉर्डिंग मिली है जो मैच फिक्सिंग की ओर इशारा कर रही है। नयन रमेश और अजमेर (राजस्थान) में बैठे सटोरिये बंटी खंडेलवाल के बीच हुई बातचीत की वाइस रिकार्डिंग नयन के फोन में सेव है। इस रिकार्डिंग में बंटी ने नयन रमेश से कहा कि पिछले कुछ मैचों की तुम्हारी ग्राउंड की रिपोर्ट गलत आ रही है। जिस टीम को तुमने जीतता हुआ बताया, वह तो हार गई। तुम्हारे आंकलन से ज्यादा रन भी पिच पर बने हैं। इस पर नयन रमेश ने कहा कि दो खिलाड़ियों से सेटिंग हो गई है। इस बार ऐसा नहीं होगा।
वॉइस रिकार्डिंग और मैसेज क्राइम ब्रांच को मिले
गिरफ्तार सट्टेबाज
ग्रीनपार्क स्टेडियम में गुजरात लायंस टीम की हार होगी और दिल्ली डेयरडेविल्स जीतेगी। अगर रिपोर्ट सही रही तो इस बार पैसा ज्यादा लूंगा। इस पर बंटी ने गुजरात के मैच हारने पर ज्यादा रकम चुकाने की हामी भरी। ऐसे ही कई और वॉइस रिकार्डिंग और मैसेज नयन रमेश और विकास के मोबाइल से क्राइम ब्रांच को मिले हैं। वहीं इस मामले में एसटीएफ भी गुपचुप तरीके से लगाई जा रही है। वॉइस रिकॉर्डिंग में बंटी जिस ग्राउंड रिपोर्ट की बात कर रहा है वह चुन्नीगंज निवासी रमेश कुमार के भेजे पिच के फोटोग्राफ से तैयार हुई थी। मालूम हो कि गुरुवार को पुलिस और क्राइम ब्रांच ने होटल लैंडमार्क से सटोरिये नयन रमेश शाह, कानपुर देहात निवासी विकास चौहान और रमेश कुमार को गिरफ्तार किया था।
7 से 10 मई तक के फुटेज जब्त
डेमो पिक
पुलिस ने होटल लैंडमार्क में लगे दस सीसीटीवी कैमरों के फुटेज सात से दस मई के बीच के जब्त कर लिए हैं। जिसमें दो कैमरों के फुटेज (लॉबी और गैलरी) देखे गए। इनमें सट्टेबाज किसी खिलाड़ी से नहीं मिलते दिखे। पुलिस अब होटल स्टाफ और ग्रीनपार्क के ग्राउंड स्टाफ से पूछताछ करेगी। सटोरियों के मोबाइल नंबरों की छह महीनों की कॉल डिटेल निकाली गई है।
बंटी की तलाश में दबिश

गैंग का मुख्य संचालक बंटी खंडेलवाल को दबोचने के लिए स्थानीय पुलिस ने गुरुवार रात उसके अजमेर स्थित ठिकानों पर दबिश दी। घर से 25 मोबाइल फोन, लैपटॉप, सट्टे से जुड़े कागजात मिले हैं। कानपुर क्राइम ब्रांच और कोतवाली पुलिस शुक्रवार को बंटी के घर पहुंची। बंटी के पिता ने उन्हें बताया कि बंटी यहां नहीं मुंबई में ज्यादातर रहता है। कहां रहता है, उन्हें नहीं मालूम। उधर, अफ्रीका के हनीफ (इस वक्त गुजरात में रह रहा है) की लोकेशन नहीं पता चल सकी है।
खिलाड़ियों से पूछताछ कर सकती है पुलिस

सट्टेबाजी का बड़ा रैकेट खुलने के बाद पुलिस इसे मैच फिक्सिंग से जोड़कर भी देख रही है। नयन के फोन से मिली वॉइस रिकॉर्डिंग और दो खिलाड़ियों से सेटिंग की बात इस ओर इशारा कर रही है। क्राइम ब्रांच को यदि और सुबूत मिले तो वह खिलाड़ियों पूछताछ कर सकती है।

तो कानपुर में हवाला के जरिए मिली रकम
कानपुर के होटल लैंडमार्क से पकड़े गए नयन रमेश के पास पुलिस को 4.90 लाख रुपये मिले थे। मामले की जांच से जुड़े पुलिस अफसर का कहना है यदि नयन रमेश इतनी बड़ी रकम मुंबई से लाता तो एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान उससे पूछताछ होती। गिरफ्तार भी हो सकता था। मगर ऐसा नहीं हुआ। तो कानपुर में ही हवाला के जरिए उसे यह रकम दी गई होगी। पुलिस अब उससे मिलने-जुलने वालों के बारे में पता कर रही है कि आखिर उसे यह रकम कानपुर में किसने दी।

विदेश भागने की फिराक में बंटी और हनीफ
सटोरियों का सरगना बंटी खंडेलवाल और उसका साथी हनीफ विदेश भागने की फिराक में हैं। इस आशंका के चलते दोनों का लुक आउट नोटिस जारी हुआ है। एसएसपी आकाश कुलहरि ने देश भर के एयर पोर्ट अफसरों को यह नोटिस भेज दिया है। ताकि दोनों को विदेश जाने से रोका जा सके। इधर, राजस्थान और गुजरात के साथ ही पुलिस और क्राइम ब्रांच की एक टीम शुक्रवार दोपहर दिल्ली रवाना हुई है। फरार सटोरियों की लोकेशन दिल्ली मिली है।

SI News Today

Leave a Reply