Saturday, May 25, 2024
featuredराज्य

बाड़मेर-कृषि मंडी में लगी आग पांच दुकानों में 20 करोड़ का नुकसान

SI News Today
बाड़मेर।बाड़मेर स्थित कृषि मंडी की पांच दुकानों में रविवार रात को भीषण आग लग गई। माचिस और तेल घी से भरे गोदाम में आग लगने के कारण चंद मिनटों में आग विकराल हो गई। आग पर काबू पाने के लिए 10 फायर ब्रिगेड से तीन घंटे तक मशक्कत करती रही। आगजनी से मंडी परिसर में अफरा-तफरी मच गई। करीब डेढ़ घंटे बाद फायर ब्रिगेड वहां पहुंची।
  रात 9.30 बजे अचानक कृषि मंडी की दुकानों में आग भड़क गई। बताया जा रहा है माचिस के गोदाम से आग तेजी से पांच दुकानों में फैल गई। आग से घी, तेल, बाजरी, गेहूं, दाला, किराणा सामान, कपड़ा सहित कई कीमती सामान जलकर राख हो गया। नगर परिषद की दो गाड़ियां सबसे पहले पहुंची थी, लेकिन पानी खत्म हो गया।
प्रशासन और दमकल दो घंटे बाद मौके पर पहुंचे
– कलेक्टर को आग की सूचना तत्काल मिल गई, लेकिन वे जयपुर में थे। ऐसे में उन्होंने केयर्न, राजवेस्ट सहित तमाम फायर ब्रिगेड को सूचना दी। करीब दो घंटे बाद एडीएम ओपी विश्नोई, एसडीएम चेतन त्रिपाठी मौके पर पहुंचे। बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन, सभापति लूणकरण बोथरा, डीएसपी ओपी उज्जवल मौके पर रहे फायर ब्रिगेड की व्यवस्था करवाई।
देरी से पहुंचीं फायर ब्रिगेड पहुंची
– केयर्न, राजवेस्ट, नगर परिषद, नागरिक सुरक्षा, भाग्यम, बीएसएफ की सात फायर ब्रिगेड, पांच टैंकर, तीन ट्रैक्टर पानी टंकियां, दो जेसीबी की मदद से तीन घंटे बाद आग पर काबू पाया। 9.30 बजे आग लगी, लेकिन रात 10.55 बजे राजवेस्ट की फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंची। 15 मिनट में पांचों दुकानों की आग पर काबू पा लिया। हालांकि पानी खत्म होने के बाद एक बार फिर से आग भभक गई।
5 दुकानों में अग्निकांड के बाद 20 दुकानें खाली करवाई
– कृषि मंडी में पवन एंड बद्रर्स, मुकेश किराणा स्टोर, धनराज पुत्र रामेश्वर, आेमप्रकाश माली समेत पांच दुकानों में भीषण आग से 20 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ है, जबकि आसपास की 20 से ज्यादा दुकानें हाथों हाथ खाली करवाई गई। मौके पर अफरा-तफरी का माहौल रहा। जिनकी दुकानें जल रही थी, वो चिल्लाते रहे थे, पानी लाओ, फायर ब्रिगेड बुलाओ। हालात ऐसे थे हर तरफ हाहाकार मचा था।
– तब तक नगर परिषद की दो फायर ब्रिगेड से आग पर काबू पाने के प्रयास शुरू हुए, लेकिन दोनों फायर ब्रिगेड में पानी खत्म हो गया। भीषण आग से करीब 5 दुकानों में 20 करोड़ रुपए से ज्यादा के नुकसान का अनुमान है।
– कृषि मंडी विभाग की लापरवाही से जिंस की दुकानों में माचिस, रुई, कपड़ा अन्य सामान रखा हुआ था जो आग से जलकर राख हो गया। साथ ही साथ पास की पांच दुकानों को भी लपेटे में ले लिया। आग रात एक बजे के बाद तक राख के ढेर में सुलगती रही।
SI News Today

Leave a Reply