Sunday, April 14, 2024
featuredउत्तर प्रदेश

यूपी के कपल को खोज रही छत्तीसगढ़ पुलिस

SI News Today

लखनऊ. यूपी की राजधानी में बंटी-बबली बन लाखों का चूना लगाने का मामला सामने आया है। दोनों ने छत्तीसगढ़ की एक महिला से करीब साढ़े 5 लाख 21 हजार रुपए ठग लिए। पीड़‍िता ने अरोपियों के ख‍िलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। छत्तीसगढ़ पुलिस ने लखनऊ और हरदोई पुलिस से सम्पर्क कर इस कपल को दबोचने की कोश‍िश की, लेकिन खाली हाथ लौटना पड़ा।
फेसबुक से हुई पहचान और बन गया मुंह बोला भाई

– मामला छत्तीसगढ़ के रायगढ़ के चक्रधर नगर गुलमोहर कॉलोनी की रहने वाली रोशनी अम्बवानी से जुड़ा है।

– चक्रधर नगर के थाना प्रभारी अमित पाटले ने बताया, ”सितंबर 2016 में रोशनी की फेसबुक के माध्यम से लखनऊ की रहने वाली श्रुति से दोस्ती हुई। दोनों के बीच काफी समय तक चैट‍िंग हुई। श्रुति, रोशनी को अपनी बड़ी बहन कहकर बुलाने लगी। कुछ दिन बाद श्रुति ने अपने पति अभ‍िषेक सिंह से रोशनी की बात कराई।”

– ”अभ‍िषेक भी रोशनी को बहन कहने लगा। कुछ महीनों की बातचीत के बाद श्रुति और अभ‍िषेक रोशनी से मिलने पहुंच गए।”

– ”रोशनी ने बताया- मुझे एक स्विफ्ट कार खरीदनी थी, इस बात को मैंने अभ‍िषेक और श्रुति से भी शेयर किया था। इस पर अभ‍िषेक ने कहा था कि वह लखनऊ से सस्ते में कार दिला देगा, जिसके बाद मैंने 5 लाख 21 हजार रुपए उसके अकाउंट में डाल दिए।”

– ”3 सितंबर को अभ‍िषेक और श्रुति रक्षा बंधन पर एक स्विफ्ट कार (UP 30 AA-2333) लेकर रायगढ़ पहुंचे। दोनों ने उसे खुद की कार बताया और बेचने की इच्छा जाहिर की। मुझे सेकंड हैंड कार ही लेनी थी, इसलिए मैंने 4 लाख में कार ले ली।”

– ”2 दिन बाद 5 सितंबर को अभ‍िषेक और श्रुति लखनऊ के लिए ट्रेन से निकल गए। उस रात मेरे पति काफी थके थे, इसलिए उन्होंने कार घर के बाहर ही खड़ी कर दी। दूसरे दिन सुबह उठने पर कार गायब थी।”

– ”पड़ोसी के घर लगे CCTV कैमरे में देखा, तो एक ऑटो से 3 लोग आते दिखे, जिन्होंने चाभी लगाकर आसानी से कार का गेट खोला और उसे लेकर चले गए। इनमें एक शख्स अभ‍िषेक भी था, जिसके पास कार की दूसरी चाभी मौजूद थी।”

बंटी-बबली के घर पहुंचकर भी गिरफ्तार न कर सकी पुलिस
– अमित पाटले ने बताया, आरोपी अभ‍िषेक और श्रुति हरदोई के रहने वाले हैं। लखनऊ से उनका कोई लेना-देना नहीं है। हमारी टीम लखनऊ पुलिस की मदद से हरदोई आरोपियों के घर तक पहुंची, लेकिन वहां की पुलिस ने वारंट नहीं होने पर गिरफ्तारी पर रोक लगा दी।

– आखि‍र में टीम को वापस लौटना पड़ा। हम लगातार राजधानी पुलिस के संपर्क में हैं। लखनऊ पुलिस का कहना है कि 9 जून को अभ‍िषेक के भाई की हरदोई में शादी है। उम्मीद है कि दोनों वहां जरूर जाएगा। यही मौका होगा जब उसकी गिरफ्तारी की जा सकती है।

– गिरफ्तारी के बाद जानकारी हो सकेगी कि अब तक बंटी और बबली ने कितने लोगों से ठगी की है।

SI News Today

Leave a Reply