Wednesday, April 17, 2024
featuredलखनऊ

अर्जुन कपूर और श्रद्धा कपूर मंगलवार को राजधानी पहुंचे।

SI News Today

लखनऊ.फ‍िल्म ‘हाफ गर्लफ्रेंड’ के प्रमोशन के लिए बॉलीवुड एक्टर अर्जुन कपूर और एक्ट्रेस श्रद्धा कपूर मंगलवार को राजधानी पहुंचे। दोनों ही कलाकार कैजुअल लुक में नजर आए। दोनों एक प्राइवेट स्कूल भी गए, जहां बच्चों के साथ खूब मस्ती की।  बातचीत के दौरान श्रद्धा और अर्जुन ने फिल्म और पर्सनल लाइफ से जुड़ी कुछ बातें शेयर की। बता दें, यह फ‍िल्म चेतन भगत की नोवेल ‘हाफ गर्लफ्रेंड’ पर बनी है।
फरहान अख्तर से रिलेशन पर श्रद्धा ने दिया ये जवाब…

– श्रद्धा कहती हैं- ”मैंने हाफ गर्लफ्रेंड नॉवेल के शुरुआती कुछ पन्ने पढ़े थे, लेकिन डायरेक्टर ने मुझे आगे पढ़ने से मना कर दिया, क्योंकि फिल्म में थोड़े चेंजेस थे।”
– ”इन दिनों मुझे आलिया और दिशा पटानी से कम्पयेर किया जा रहा है, यह अच्छी बात है। दिशा बहुत प्रीटी हैं और आलिया अच्छी एक्ट्रेस।”
– इस बीच अर्जुन श्रद्धा को छोड़ते हुए कहते हैं- ”तुम्हारे अंदर इतना कुछ है और तुमने मुझसे सब छिपाकर रखा, जाओ मैं तुमसे खफा हो गया हूं।”
– फरहान अख्तर से रिलेशनश‍िप के सवाल श्रद्धा कहती हैं- ”सब तो मुझे पता ही नहीं कि मेरे बारे में इतना कुछ कहा-सुना जा रहा है। लोग टीवी की स्क्रिप्ट की तरह कुछ भी बना लेते हैं और बोलना शुरू कर देते हैं। लेकिन मैं इन सब बातों पर ध्यान नहीं देती।”
– ”फिलहाल, मैं दो बायोपिक में काम कर रही हूं- एक दाउद इब्राहीम की बहन हसीना और दूसरा, सायना नेहवाल पर बेस्ड है। ‘हसीना’ फिल्म में मैं अपने भाई सिद्धांत के साथ नजर आऊंगी। इसके लिए मैं काफी एक्साइटेड हूं।”
– बता दें, लखनऊ के जीडी गोयनका स्कूल में विजीट के दौरान श्रद्धा ने बच्चों की डिमांड पर गाना “फिर भी तुमको चाहूंगी” सुनाया। इसमें अर्जुन ने भी उनका साथ दिया।

चाचू के साथ काम करने के लिए हूं एक्साटेड
– अर्जुन कपूर ने बताया- ”हाफ गर्लफ्रेंड में मैं एक बिहारी लड़के माधव के किरदार में हूं। बिहारी एक्सेंट लाने के लिए मुझे ट्रेनिंग लेनी पड़ी थी, इसमें 3 महीने लगे। लखनऊ के श्रीधर दूबे ने मुझे ट्रेंड किया।”
– ”मैंने फिल्म से पहले नॉवेल नहीं पढ़ी, क्योंकि मुझे शौक नहीं है। हालांकि, डायरेक्टर ने भी हमे नॉवले पढ़ने के लिए मना किया था।”
– ”मैं अपने चाचू अनिल कपूर के साथ काम करना चाहता था, जोकि फिल्म “मुबारका” में पूरा होगा। मैं बचपन से ही चाचू जैसा बनना चाहता था, उनके जैसी एक्टिंग करना चाहता था और इस फिल्म में मेरा सपना पूरा हो गया।”
– लखनऊ के बारे में वह कहते हैं- ”यह मेरी कर्म भूमि है। बतौर कलाकार मैं यहीं पैदा हुआ। फिल्म इशाक्जादे की शूटिंग के लिए मैं यहां करीब साढ़े 3 महीने रुका। इस दौरान लखनऊ की तहजीब से रूबरू होने का मौका मिला। यहां के लोगों की जुबान में जो मिठास है, वो कहीं नहीं मिलती। इदरिस की बिरयानी और टुंडे कबाब का तो मैं फैन हूं।”
– वहीं, श्रद्धा कहती हैं- ”मैं लखनऊ पहली बार आई हूं, लेकिन मुझे लग रहा जैसे मैं पहले भी यहां आ चुकी हूं। ऐसा लगता है कि यहां से मेरा पिछले जन्म का रिश्ता है।”

SI News Today

Leave a Reply