Friday, April 19, 2024
featuredलखनऊ

गुरु पूर्णिमा पर महंत और गुरु की भूमिका में सीएम योगी आदित्य नाथ

SI News Today

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ गुरु पूर्णिमा के मौके पर गोरखपुर स्थित गोरक्षनाथ मठ पहुंच चुके हैं। यहां पर योगी आदित्य नाथ के लिए एक सिंहासन लगवाया जाएगा। इस आराम दायक सिंहासन पर बैठकर योगी अपने शिष्यों को आशीर्वाद और ज्ञान देंगे। ईटीवी के अनुसार योगी के शिष्य उन्हें टीका लगाकर फल तोहफे में देंगे। शनिवार को लखनऊ से गोरखपुर पहुंचे योगी आदित्य नाथ ने रविवार की सुबह 3 बजे से ही अपनी दिनचर्या शुरु कर दी थी। वे शहर के प्रसिद्ध दुर्गा मां के मंदिर में पहुंचे, यहां पर उन्होंने पूजा-अर्चना की। पूजा करने के बाद योगी ने नाथ संप्रदाय गुरुओं की प्रतिमा के सामने माथा भी टेका। इसके बाद योगी गुरु अवैद्यनाथ के मंदिर गए जहां पर उन्होंने गायों की सेवा करते हुए उन्हें चारा भी खिलाया।

प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद भी योगी गोरखनाथ मंदिर में महंत की भूमिका निभा रहे हैं। अप्रैल महीने में योगी ने नवरात्र के अवसर पर पूरे नौ दिनों के व्रत रखे थे और नवमी वाले दिन उन्होंने कन्याओं को भोजन कराकर उनका पूजन भी किया था। इसके बाद अब फिर से योगी महंत के रूप में गोरखनाथ मंदिर पहुंचे हैं, जहां पर वे अपने शिष्यों को ज्ञान देंगे। वहीं दूसरी और योगी के इस कार्यक्रम को लेकर सारी तैयारियां की जा चुकी है। स्थानीय लोग भी योगी का आर्शिवाद लेने के लिए बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

स्थानीय लगों के अलावा प्रदेश व अन्य राज्यों के संत भी योगी आदित्य नाथ से मिलने के लिए पहुंच रहे हैं। एक महंत के रूप में योगी दो दिनों तक गोरखनाथ मंदिर के मुखिया के रूप में दिखाई देंगे। प्रदेश का सीएम के साथ-साथ योगी आदित्य नाथ गोरक्षनाथ मठ की सभी धार्मिक परंपराओं को निभाएंगे। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर योगी बिलकुल गुरु की तरह ही अपने संप्रदाय शिष्यों को ज्ञान बाटेंगे। योगी आदित्य नाथ को महंत और सीएम पद के बीच में संतुलन बनाने में किसी तरह की परेशानी नहीं होती है।

SI News Today

Leave a Reply