Monday, June 17, 2024
featuredदुनियादेश

संदिग्ध IS आतंकी बोले :- पाकिस्तान राइटर तारिक फतेह की हत्या का प्लान था:

SI News Today

लखनऊ.यूपी एटीएस की गिरफ्त में आए संदिग्ध आईएस आतंकियों ने पूछताछ में कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। संदिग्ध आतंकी मुफ्ती फैजान ने बताया कि दो राज्यों में भीड़-भाड़ वाली जगहों पर हमला करने के साथ ही वे लोग कैनेडियन सिटीजन और स्कॉलर तारिक फतेह पर भी हमला करने की फिराक में थे। बता दें, एटीएस ने 20 अप्रैल को 5 राज्यों की पुलिस के साथ मिलकर आतंक के खिलाफ एक ऑपरेशन को अंजाम देते हुए संदिग्ध आईएस आतंकियों को गिरफ्तार किया था। इसमें बिजनौर से मुफ्ती फैजान, तनवीर और एहतेशाम को अरेस्ट किया गया। वहीं, नाजिम शमशाद को मुंब्रा से अरेस्ट किया गया था। पिस्टल खरीदने की डील होने से पहले हो गए अरेस्ट…

– मुफ्ती फैजान ने बताया कि उसने बिजनौर से पिस्टल और बारूद खरीदने की कोशिश की थी, लेकिन वे लोग इसमें नाकाम रहे। इसके बाद दूसरे संदिग्ध आतंकी निजाम ने मुंबई से पिस्टल खरीदने का इंतजाम किया, लेकिन डील होने से पहले ही वे लोग गिरफ्तार हो गए।

– फिलहाल एटीएस उस शख्स की तलाश में जुटी है, जिससे निजाम पिस्टल खरीदने वाला था। एटीएस निजाम के बताए पतों पर लगातार छापे मार रही है।

– संदिग्ध आतंकियों ने एटीएस को वाे स्थान भी बताए हैं, जहां वे लोग हमला करने की फिराक में थे।
अकेले घूम रहे पुलिसवालों की हत्या का प्लान था

– संदिग्धों की उत्तराखंड के हरिद्वार, यूपी के अमरोहा के नौगावां सादात स्थित शिया इबादतगाह और किसी त्योहार के मद्देनजर भीड़-भाड़ वाली जगहों पर हमला करने की प्लानिंग थी।

– फैजान ने बताया कि उनके प्लान के मुताबिक, वे लोग मुंबई में अकेले घूम रहे पुलिसवालों की भी हत्या करने की फिराक में थे। साथ ही बिहार स्थित नरकटियागंज शुगर मिल में आग लगाना भी उनके प्लान में था।

– इसके अलावा उनके निशाने पर गैस सिलेंडर और बैटरी की दुकानें भी थीं, जिसमें विस्फोट के बाद ज्यादा से ज्यादा नुकसान हो सके।

सुरक्षा एजेंसियां हुईं सतर्क
– गिरफ्त में आए संदिग्ध आतंकी फैजान और निजाम ने आतंकी घटनाओं के बारे में जो खुलासे किए हैं, उसे सुनकर सुरक्षा एजेंसियां अब और सतर्क हो गई हैं। फिलहाल संदिग्धों से एटीएस की पूछताछ जारी है।

संदिग्धों के निशाने पर यूपी असेंबली भी थी
– इससे पहले यूपी एटीएस के ज्वाइंट ऑपरेशन में अरेस्ट किए गए IS के 4 संदिग्ध आतंकियों ने पूछताछ में ये भी खुलासा किया था कि उनके टारगेट पर यूपी असेंबली और अयोध्या जैसी बड़ी जगहें थीं।

– फैजान ने बताया था कि कुछ मेंबर्स को मार्च के आखिरी हफ्ते में यूपी असेंबली की रेकी के लिए लखनऊ भेजा गया था। मेंबर्स ने असेंबली की तस्वीरें लीं और वीडियो बनाए थे। सिक्युरिटी होने की वजह से ये लोग अंदर नहीं जा पाए थे। इसके अलावा लखनऊ के बड़े इमामबाड़े की भी रेकी की गई थी।

– पूछताछ में सामने आया था कि हमले की प्लानिंग जालंधर (पंजाब) में की गई थी। इसी साल फरवरी के लास्ट वीक में भी यहां एक मीटिंग की गई थी, जिसमें प्लान को कामयाब बनाने के लिए ग्रुप तैयार करने की बात हुई थी।

– यूपी एटीएस के एक अफसर ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया था कि यूपी के बड़े लोकेशंस पर धमाका करने की साजिश रची जा रही थी।

साधु के वेश में हमला कर सकते हैं आतंकी
– इससे पहले मध्यप्रदेश पुलिस ने यूपी एटीएस को बताया था है कि आतंकी साधु और तांत्रिक के वेश में बड़े हमले की योजना बना रहे हैं। ये यूपी के मंदिरों, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स को निशाना बना सकते हैं। इनकी टीम में 17 से 18 साल के लड़के हैं। इन्हें बकायदा ट्रेनिंग दी गई है।

– इस जानकारी के बाद पूरे यूपी में अलर्ट जारी कर दिया गया था। सभी जोन के आईजी, डीआईजी, एसपी और एसएसपी को चौकसी बढ़ाने को कहा गया।

SI News Today

Leave a Reply