Monday, February 26, 2024
featured

एनीमिया को किया इग्नोर तो बच्चा भी हो सकता है एनीमिया-ग्रस्त, जाने उपाए…

SI News Today

प्रेग्नेंसी के दौरान एनीमिया से पीड़ित होने की काफी संभावना होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि गर्भावस्था में शरीर को काफी मात्रा में आयरन की जरूरत होती है। ऐसे में अगर पर्याप्त मात्रा में आयरन न लिया जाए तो एनीमिया होना तय है। प्रेग्नेंसी में बच्चे का सही तरीके से विकास होने के लिए आयरन की खुराक दोगुनी हो जानी चाहिए। अगर आपके शरीर में आयरन की कमी है तो इस वजह से आपमें सांसों का छोटा हो जाना, सिरदर्द, हाथों और पैरों का ठंडा हो जाना आदि लक्षण प्रकट होते हैं। गर्भावस्था के दौरान आयरन की ज्यादा कमी की वजह से उल्टी आदि की भी शिकायत होने लगती है। इस परिस्थिति में एनीमिया को हल्के में लेने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है क्योंकि एनीमिया से पीड़ित मां से पैदा होने वाले बच्चे भी एनीमिया ग्रस्त होते हैं। इसलिए प्रेग्नेंसी में एनीमिया हो जाने पर उसका तुरंत उपचार बेहद जरूरी होता है। आइए जानते हैं कि प्रेग्नेंसी में एनीमिया से बचने के लिए क्या उपाय किए जा सकते हैं-

1. गर्भवती महिलाओं को हर रोज कम से कम 38 ग्राम आयरन लेना बहुत जरूरी होता है।। इसके लिए उन्हें नियमित रूप से शलगम, लोबिया, राजमा, नारियल, कद्दू के बीज और तिल के बीज का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा चिकन और मटन से भी पर्याप्त मात्रा में आयरन मिल जाता है।

2. प्रेग्नेंसी के दौरान फोलेट शरीर में नई कोशिकाओं को प्रोड्यूस करने के लिए जरूरी होता है। शरीर में फोलेट की आपूर्ति के लिए नियमित रूप से हरी पत्तेदार सब्जियां, अखरोट, सेम, सूरजमुखी के बीज, सोयाबीन आदि का सेवन किया जा सकता है।

3. स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाओं के लिए शरीर में पर्याप्त मात्रा में विटामिन बी 12 का होना जरूरी होता है। जो महिलाएं दूध से बने उत्पादों और मांस आदि से परहेज करती हैं उनमें विटामिन बी 12 की कमी होना आम समस्या है। अगर आप मांस खाने से परहेज करती हैं तो इसके बदले आप अंडे ले सकती हैं।

4. विटामिन सी से भरपूर खाद्य शरीर में आयरन की पूर्ति करने के लिए जाने जाते हैं। ऐसे में प्रेग्नेंसी के दौरान विटामिन सी से भरपूर फूड्स का खूब सेवन करना चाहिए। अमरूद, संतरे और आंवला आयरन से भरपूर होते हैं। इनका नियमित सेवन आपको एनीमिया से सुरक्षा प्रदान करता है।

SI News Today

Leave a Reply