Thursday, April 11, 2024
featured

एमएस धोनी को पीछे छोड़‍िए, सुषमा वर्मा की फुर्ती देखकर खुला रह जाएगा मुंह

SI News Today

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की विकेटकीपर सुषमा वर्मा आईसीसी महिला वर्ल्‍ड कप 2017 में अब तक 5 स्‍टंपिंग कर चुकी हैं। उनके मुकाबले, बाकी सभी टीमों के विकेटकीपरों को मिला लें, तो भी सिर्फ 3 स्‍टंपिंग ही हुई हैं। यह दिखाता है कि कीपिंग के मामले में सुषमा अपने प्रतिद्वंदियों से काफी आगे हैं। अब उनकी तुलना आधुनिक क्रिकेट के सबसे तेज विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी से होने लगी है। भारतीय महिला क्रिकेट टीम विजय-रथ पर सवार है। लीग मैचों के चारों मैच जीतकर टीम ने सेमीफाइनल में अपी जगह पक्‍की कर ली है। शिमला की रहने वाली 24 वर्षीयर सुषमा, अच्‍छी बल्‍लेबाजी भी कर लेती हैं। मगर उनकी विकेटकीपिंग इतनी शानदार है कि कई दिग्‍गज खिलाड़ी उनकी तारीफ कर चुकी हैं। धोनी और सुषमा, दोनों ही विकेटों के पीछे तेज, चुस्‍त और चतुर हैं।

बुधवार (5 जुलाई, 2017) को श्रीलंका के खिलाफ हुए मैच को ही ले लीजिए। भारतीय टीम ने 232 रनों का सम्‍मानजनक स्‍कोर बनाया था। एक वक्‍त पर ऐसा लग रहा था कि मैच भारत के हाथों से निकल रहा है, मगर सुषमा वर्मा ने एक शानदार स्‍टंपिंग से मैच का रुख बदल दिया। क्रीज पर अच्‍छा-खासा वक्‍त बिता चुकीं श्रीलंकाई बल्‍लेबाज हंसिका को सुषमा ने अचानक ही स्‍टंप कर दिया। भारतीय टीम को 16 रनों से जीत मिली और सेमीफाइनल का टिकट पक्‍का हो गया।

श्रीलंकाई टीम ने संयम के साथ लक्ष्य का पीछा करना शुरू किया, लेकिन इस बीच उनकी रन गति बेहद धीमी रही। संयम के साथ खेलने और क्रीज पर समय बिताने के बावजूद दिलानी मनोदरा सुरंगिका (61) के अलावा श्रीलंका की कोई बल्लेबाज बड़ा स्कोर नहीं बना सकीं। भारतीय गेंदबाज कसी हुई गेंदबाजी करने के साथ लगातार अंतराल पर विकेट चटकाती रहीं, जिससे श्रीलंका की बल्लेबाजों को खुलकर खेलने का मौका नहीं मिला। पारी के करीब मध्य तक (23.3 ओवर) तक श्रीलंका के सिर्फ तीन विकेट गिरे थे, लेकिन इस बीच वे स्कोरबोर्ड पर सिर्फ 70 रन ही टांग पाई थीं। इस स्कोर तक श्रीलंका ने निपुनी हंसिका (29), हासिनी परेरा (10) और चमारी अटापट्टू जयांगनी (25) के विकेट गंवाए थे।

चौथे विकेट के लिए शशिकला सिरिवर्देना (37) ने सुरंगिका के साथ 60 रन जोड़े। हालांकि यह जोड़ी भी रन गति तेज नहीं कर सकी और श्रीलंकाई टीम 41वें ओवर तक पांच विकेट गंवाकर 143 रन ही बना सकी थी। श्रीलंका को आखिरी 10 ओवरों में 95 रन चाहिए थे और उसके हाथ में छह विकेट शेष थे। लेकिन टीम इस दौरान तीन विकेट और खोकर 62 रन ही बना सकी।

भारत के लिए अनुभवी गेंदबाज झूलन गोस्वामी और पूनम यादव ने बेहद कसी हुई गेंदबाजी की और दो-दो विकेट हासिल किए। गोस्वामी ने आठ ओवर फेंके और दो मेडेन ओवर सहित 26 रन दिए, जबकि पूनम ने पूरे 10 ओवर गेंदबाजी की और एक मेडेन के साथ 23 रन ही दिए।

SI News Today

Leave a Reply