Sunday, February 25, 2024
featured

धोनी का यह रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाए विराट कोहली, जानिए…

SI News Today

एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला गया चौथा वनडे मैच अॉस्ट्रेलिया ने 21 रनों जीतकर भारत के विजयरथ को रोक दिया। इस जीत के साथ अॉस्ट्रेलिया ने पांच वनडे मैचों की सीरीज में अपना खाता खोला। हालांकि हार के बाद भी मेजबान भारत 3-1 की अजेय बढ़त लिए हुए है। भारतीय कप्तान विराट कोहली के लिए यह एक बड़ा झटका है, क्योंकि वह पूर्व कप्तान एम एस धोनी का रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाए। अगर भारतीय टीम यह मैच जीत जाती तो कोहली वनडे मैचों में लगातार जीत के महेंद्र सिंह धोनी के रिकार्ड को तोड़ देते। धोनी के नाम वनडे में लगातार नो जीत का रिकॉर्ड है। कोहली ने इंदौर में खेले गए इस सीरीज के तीसरे मैच में जीत हासिल करते हुए धोनी के रिकार्ड की बराबरी तो कर ली थी, लेकिन वह इस रिकॉर्ड को तोड़ नहीं सके।

गौरतलब है कि चौथे वनडे में मिली शिकस्त के बाद टीम इंडिया का न सिर्फ 5-0 से जीतने का सपना टूट गया, बल्कि आईसीसी वनडे रैंकिंग में उसे नंबर 1 का ताज भी गंवाना पड़ा। टीम इंडिया को 21 रनों से मिली हार के बाद एक बार फिर द.अफ्रीका 5957 पॉइंट्स के साथ पहले नंबर पर पहुंच गया है। जबकि टीम इंडिया के 5828 पॉइंट्स हैं। 5879 पॉइंट्स के साथ अॉस्ट्रेलिया तीसरे नंबर पर काबिज है। बेंगलुरु के एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए चौथए वनडे में अॉस्ट्रेलियाई टीम ने अपना खाता खोला। पहले बल्लेबाजी करते हुए डेविड वॉर्नर (124) और एरॉन फिंच (94) के बीच पहले विकेट के लिए हुई 231 रनों की साझेदारी के दम पर भारत के सामने 335 रनों का विशाल लक्ष्य रखा। मेजबान टीम केदार जाधव (67), रोहित शर्मा (65) और अजिंक्य रहाणे (53) की अर्धशतकीय पारियों के बावजूद भी लक्ष्य हासिल नहीं कर सकी और पूरे 50 ओवर खेलने के बाद आठ विकेट के नुकसान पर 313 रन बना सकी।

विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को रोहित और रहाणे ने मनमाफिक शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 18.2 ओवरों में 106 रनों की साझेदारी की। लेकिन इसके बाद अजिंक्य रहाणे आउट हो गए। कुछ देर बाद रोहित और कप्तान विराट कोहली (21) के बीच रन लेने में गलतफहमी हुई और रोहित पवेलियन लौट गए। कप्तान कोहली भी 21 रन बनाकर चलते बने।

यहां से बेहतरीन फॉर्म में चल रहे हार्दिक पांड्या (41) और जाधव ने टीम को संभाला और चौथे विकेट के लिए 78 रन जोड़े। पांड्या ने एक बार फिर लेग स्पिनर एडम जाम्पा को अपना निशाना बनाया, लेकिन जाम्पा ने ही 38वें ओवर में उन्हें वार्नर के हाथों कैच कराया। जाधव ने इसके बाद मनीष पांडे (33) के साथ टीम की जीत दिलाने के लिए संघर्ष किया, लेकिन यह दोनों खिलाड़ी असफल रहे। 69 गेंदों का सामना करते हुए सात चौके और एक छक्का मारने वाले जाधव 46वें ओवर में पवेलियन लौट लिए। 47वें ओवर की पहली गेंद पर पांडे आउट हुए। महेंद्र सिंह धौनी ने 10 गेंदों में एक चौका और एक छक्का मार टीम को जीत दिलाने की कोशिश की लेकिन रिचर्डसन ने 48वें ओवर में उनकी पारी का अंत किया।

SI News Today

Leave a Reply