Tuesday, April 16, 2024
featured

22 साल में पहली बार मराठा मंदिर में रद्द हुआ ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ का शो

SI News Today

मुंबई के आइकोनिक मराठा मंदिर में पिछले 22 सालों से बिना रुके शाहरुख खान और काजोल स्टारर दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे दिखाई जा रही है। लेकिन दो दशक में पहली बार इस फिल्म के मैटिनी शो को कैंसिल करना पड़ा। दरअसल मंगलवार यानी 18 जुलाई को श्रद्धा कपूर स्टारर हसीना पार्कर के ट्रेलर स्क्रीनिंग की वजह से ऐसा हुआ। यह फिल्म गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम की बहन हसीना पार्कर की बायोपिक है। जिसे क्वीन ऑफ मुंबई के नाम से जाना जाता था। मराठा मंदिर सिनेमा के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर मनोज देसाई ने कहा कि निर्माता चाहते थे फिल्म का ट्रेलर वहां लॉन्च किया जाए क्योंकि हसीना डोंगरी में रहती थी जोकि मराठा मंदिर के काफी करीब है।

हालांकि देसाई का कहना है कि दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे (डीडीएलजे) के साथ किसी तरह की नाइंसाफी नहीं हुई। फिल्म के निर्माताओं ने मुझे इस आइडिया के साथ अप्रोच किया और कहा कि वो हाउसफुल शो के बराबर का पैसा दे देंगे। मैं इस आइडिया को अतीत में अपना अपना चुका हूं जब यशराज फिल्म्स (डीडीएलजे के प्रोड्यूसर्स) इसके लिए मान गए थे और इस तरह से हमने इसे प्लान किया। मैटिनी शो के टिकट की कीमत 15 से 20 रुपए के बीच होती है और ज्यादातर थिएटर फुल होते हैं, खासतौर से वीकेंड पर। सोमवार को ही मराठा मंदिर के बाहर एक बोर्ड लगा दिया था जिससे दर्शकों को पता चल जाए कि डीडीएलजे का मैटिनी शो कैंसिल कर दिया गया है।

इस सिनेमा हॉल का 1950 में उद्घाटन किया गया था। पहली बार यहां किसी फिल्म के ट्रेलर को लॉन्च किया गया है। वहीं श्रद्धा कपूर की अपकमिंग फिल्म हसीना की बात करें तो ट्रेलर साफ बताता है कि आपको फिल्म में हसीना पार्कर की जिंदगी के ऐसे कई पहलू देखने को मिलने वाले हैं जो आप अखबारों और न्यूज चैनलों पर नहीं देख पाए।

ट्रेलर में हसीना की जिंदगी का वह हिस्सा भी दिखाया गया है जब उन्हें अपने ही भाई के चलते कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ा। पहले रिलीज हुए पोस्टर्स में इस लाइन को बार-बार दिखाया गया था कि हसीना की कोर्ट में सिर्फ एक बार पेशी हुई। इस पेशी को हकीकत के ज्यादा से ज्यादा करीब लाकर दिखाने का प्रयास किया गया है।

SI News Today

Leave a Reply