Thursday, June 20, 2024
featuredफेसबुक अड्डामेरी कलम से

“56 इस्लामिक देशो के पैरो की फुटबॉल रोहंगिया मुसलमान”

SI News Today

Source :Viwe Source

रूमाना सिद्दीक़ी-

रोहिंग्या मुसलमान को भारत में बसा लो, राम जन्मभूमि पर अस्पताल बनवा दो, गाय खाने दो, हज सब्सिडी दे दो, ख़ून पसीने का टैक्स दे दो, अल्पसंख्यक दर्जा, अलग राज्य और फिर भारत के टुकड़े भी करवा दो। जिस थाली में खाएंगे उसी में छेद कर डालेंगे।

धर्मनिरपेक्षता और मानवता का सारा ठेका हिन्दुओ ने ले रखा है क्या ? यह हिंदुस्तान हैं इसके नाम में ही हिन्दू है। इस धर्म के साथ राष्ट्रीयता जुड़ी है। पाकिस्तान में 1 करोड़ 25 लाख हिन्दुओ ने दम तोड़ दिया, उनका मारा काटा गया, बहन बेटियो से बलात्कार किये गए, धर्म बदलवाया गया पर हिन्दू गद्दार नही होते राष्टवाद और स्वाभिमान उनके ख़ून में होता है! आखिर उन्होंने इतना ज़ुल्म होने के बाद भी अपना पाकिस्तान देश नही छोड़ा। बेचारे अब सिर्फ 10 लाख हिन्दू रह गए पाकिस्तान में। वही भारत में हिन्दुओ ने मुस्लिमो को फलने फूलने का पूरा मौका दिया और 1947 में 2 करोड़ से 20 करोड़ तक आ पहुँचे।

हर देश का मुसलमां भारत में ही क्यों रहना चाहता है ? उनका अपना देश है वहाँ से क्यों निकल जाते है ? शायद भारत में वे सबसे ज्यादा सुरक्षित है इसलिए। भारत के मुसलमां मुल्ला मौलाना मौलवी ओवैसी बुख़ारी जाकिर बरकती ये सब पाकिस्तान के गुणगान करते है, खाते भारत की गाते पाक की। लहु में ही ग़द्दारी है और नस्ले खराब है। आप तो पाक को अपना बाप मानते हो ना, फिर बोलो उस पाक से की इन 20 लाख रोहंगिया मुस्लिमो को अपने देश में शरण दो। क्यों नही बोलते ? आप दिन रात पीएम मोदी पर ही भोंकना जानते हो पर पाक के खिलाफ एक लफ्ज भी नही ? अरे बेशर्मो अपना घर अपना ही होता है अपना देश अपनी जान होता है। पाकिस्तान न तो रोहंगिया को शरण देगा न ही भारत के मुस्लमानो को फिर चाहे दिन रात उसके तलवे चाटो। 70 साल से तो चाट ही रहे हो।

सऊदी अरब की टेंट सिटी मीना, जंहा 50 स्वायर किलोमीटर जमीन पर 5 लाख एयर कंडीशनर टेंट खाली पड़े हैं जो 50 लाख लोगों को बसेरा दे सकते हैं ये टेंट फायर प्रूफ हैं, और बाथरूम और किचन से युक्त हैं, हज के बाद ये टेंट सिटी पूरे साल वीरान रहती है। फिर क्यों इन मुस्लिमो को उनमे शरण नही दी जा सकती ? कम से कम खुले आसमान के नीचे नही सोना पड़ेगा, और किसी काफ़िर के सामने हाथ भी नही फैलाना पड़ेगा। शायद इनकी शक्ल सूरत अच्छी नही, इनके पास अपना कुछ नही, इनकी बिबिया बेटिया सुंदर खूबसूरत नही, इनको इंसानो का मांस चाहिए, इनको विस्तार चाहिए और ऊपर से बम गोला बारूद ak47 भी चाहिए। यही वजह है के 56 इस्लामिक देशो में से एक देश का भी मुँह नही फूटा के भाइयो मेरे यहाँ आ जाओ।

भारत में जब से सम्राट अशोक ने अश्त्र त्याग दिए दे तब से भारत का विघटन शुरू हुआ और हिन्दुओ कत्लेआम तब से आज तक हो रहा है। भारत ने मुस्लिमो को अफगानिस्तान, इंडोनेशिया, तालिबान, पाकिस्तान जैसे जमीन के भारी भरकम बहुत बड़े भु भाग दिए पर मुस्लिमो ने इन भु भागो पर आतँकवाद शैतान जेहाद की बड़ी फौज खड़ी की जिसमे ये देश आज खुद ही परेशान है। आखिर मुस्लिमो का भला कब होगा ? ये भारत में ही क्यों आते है ? ख़ून खोलता है इन सवालो से ही। भारत ने 10 करोड़ लोगो को अपने यहाँ शरण दी पर सबने भारत को नोच नोचकर खाया। 1972 में बांग्लादेश और पाकिस्तान से 2 करोड़ से ज्यादा मुस्लिमो को भारत में शरण दी गई जब उनको वहाँ से मार भगाया। तब 56 मुस्लिमो देशो की आँखे फुट गई थी जब अब भारत को मानवता का पाठ पढ़ा रहे है। मानवता मानव के लिए होती है दानव के लिए नही। हम भारत के हिन्दुओ मुस्लिमो को भी अपना पेट पालना है। हमारे बच्चों को भी घर, शिक्षा, रोजगार चाहिए फिर हम अपने संसाधनों पर किसी दूसरे को हक क्यों दे ?

ऐसे मुस्लिमो को मार भगाओ जो साले देशद्रोही भारत के तिरंगा को सलाम न कर सके। राष्टगान न गा सके। इनको शरण देदो भारत में पर भारत माता की जय और वंदेमातरम् नही बोलेंगे। ऊपर से भारत के खिलाफ ही जेहाद करेंगे। Ak 47 उठाएंगे। काहे के भारतीय हो बे फिर ? गोली मार देनी चाहिए ऐसे लोगो को। आज भारत की मिडिया, मानवाधिकार, राजनितिक दल, 56 इस्लामिक देश, और न जाने कौन कौन पीएम मोदी को नसीहत दे रहे है। जैसे सभी का ख़ून है इस मिट्टी में किसी के बाप का हिंदुस्तान थोड़े ही है। हाँ हिन्दुओ के बाप का हिंदुस्तान है। रोहंगिया का कौन सा ख़ून है इस मुल्क़ की मिट्टी में कोई है जो जवाब देगा ? भारत के मुस्लिमो ने भी 1947 में पाकिस्तान के पक्ष में जनमत दिया था फिर भारत मुस्लिमो का भी नही।

वैसे भारत अब कम्युनल हो रहा है, असहिष्णु हो रहा है जब यहाँ रहकर देश का एक उपराष्ट्रपति तक डरता है फिर पहले से ही डरे हुए मुस्लिमों के इस देश में बेचारे रोहिंग्याओं को क्यों बसाया जाए…??

भारत के मुसलमान खुद को पाकिस्तान का मुसलमान महसूस कर के सोचे के क्या रोहंगिया को शरण दे ? शायद आपका जमीर कहेगा कभी नही कभी नही। बस ऐसे ही पाक, बांग्लादेश सहित 56 देशो के मुस्लिम इनको शरण नही देना चाहते। हाँ अगर आपके ख़ून में ग़द्दारी है तब आप इन रोहंगियो को भारत लाने के लिए धरना प्रदर्शन तोड़फोड़ आगजनी करोगे। वैसे ये सब भारत के हिन्दुओ ने कभी नही किया पाकिस्तान बांग्लादेश के हिन्दुओ को शरण देने के लिए।

SI News Today

Leave a Reply