Friday, February 23, 2024
featuredफेसबुक अड्डा

गालियां देकर अल्लाह को क्या सिला देंगे ये मुसलमां ! खुद ही को नफ़रत की आग में जला देंगे ये मुसलमां!

SI News Today

Source :Viwe Source

रूमाना सिद्दीक़ी –

मैं भारत के पक्ष में बोलूँ तो मुझे गाली और गोली मिलेगी। मैं सेना, हिन्दू, मजलूम औरतो के पक्ष में बोलूँ तो गाली और गोली मिलेगी। जब इस्माल के शांतिदूत पीएम मोदी, भारत, सेना को और देवी देवताओ को गाली दे सकते है तो मेरा कोई वजूद नही रह जाता मुझे तो गाली मिलनी ही मिलनी है। जी भरकर गालियां दीजिए पर ये बताईये के ये जो मुल्ला, मौलाना, मौलवी, कारी, काजी, उलेमा, मुस्लिम विद्वान बड़े बड़े जलसों में, मिडिया में क़ुरान का शरीयत का हवाला देकर बोलते है के इस्लाम में औरतो की सबसे ज्यादा इज्जत की जाती है। औरत के पैरो के निचे जन्नत मानी जाती है। अब ये शांतिदूत कितनी इज्ज़त देते है औरतो को मेरी पिछली पोस्ट पर जगज़ाहिर हो गया।

क्या मैं सेक्युलर नही हो सकती ? क्या हिन्दुओ के पक्ष में आवाज नही उठा सकती ? क्या मैं भारत, सेना, मजलूम औरतो के पक्ष में आवाज उठाने का अधिकार नही ? बंगाल में हिन्दुओ पर ज़ुल्म, केरल में हिन्दुओ पर ज़ुल्म, तेलगांना कर्नाटक काश्मीर में हिन्दुओ पर ज़ुल्म। वोट बैंक के लिए पहलु खान, अकलाख की मौत का ढिंढोरा पीटा जाता है पर यही मौलाना मौलवी नेता लोग यही मुसलमां अय्यूब पंडित की मौत पर चुप्पी साध लेता है जब नमाजी लोग मस्जिद के बाहर पीट पीट कर उसकी हत्या कर देते है। केरल, बंगाल में हर रोज 5 हिन्दुओ की पीट पीटकर हत्या की जाती है पर यही मुसलमां चुप रहता है। काश्मीर में हिन्दुओ को किसने मारा ये बताने की जरूरत नही। 84 के दंगो में सिक्खो को किसने मारा ये बताने की जरूरत नही। कांग्रेस के 65 साल के राज में लाखो दंगे हुए किसने किये सब जगजाहिर है।

मेरा कसूर बस इतना है के मैं उस पार्टी से जुडी हुई हो जो भारत माता की जय, वंदेमातरम् का नारा बुलन्द करती है! जिसके पीएम सीएम आरएसएस से निकळते है। जो राष्टवाद को राष्ट को देश सेवा को पार्टी से बड़ा मानती है। बस इतना कसूर है मेरा। और आपको ये भी बता दूँ के ये शांतिदूत मुझे गाली क्यों देते है, क्योंकि मैं बीजेपी से हूँ वही बीजेपी जिसकी सरकार में पुरे देश में सिर्फ एक दंगा हुआ गुजरात में। पर अगर मैं इन मुस्लिमो को याद दिला दूँ के काश्मीर में किसने दंगे कर हिंदुओ को मार भगाया ? 20 हजार हिन्दुओ का कत्लेआम किसने किया ? असम, केरल, बंगाल, तेलगांना, भागलपुर के दंगो में हिन्दुओ को किसने मारा और सरकार किस पार्टी की थी तब मेरे मुसलमां भाई मुझे गाली देंगे। अगर मैं कहूँ के हिन्दू 90% से 80% पर आ गए तब ये गाली देंगे। अगर ये कहूँ के कांग्रेस राज में दंगो में लाखो हिन्दू मुस्लिम मारे गए तब ये गुजरात दंगे की बात उठाकर मुझे और पीएम मोदी को गाली देंगे पर ये भूल जाते है के 1975 से 1996 के बिच उसी गुजरात में 30 से ज्यादा दंगे हुए जिसमे हजारो लोग मारे गए अब मैं ये कहु के हिन्दू ज्यादा मारे गए तो फिर ये मुझे गाली देंगे। इनकी फितरत ही यही है गाली देना। पर ये कभी कांग्रेस को गाली नही देंगे। ये मुसलमां आतँकवाद को गाली नही देंगे जिन्होंने देश का नाश कर डाला। कांग्रेस

मैं रोहंगिया मुस्लिमो के मुद्दे पर 56 इस्लामिक देशो को आइना दिखाऊँ तो ये मुसलमां फिर मुझे गाली देंगे। विश्वास न हो तो मेरी पिछली पोस्ट पढ़ लीजिएगा। क्यों भारत ही शरण दे रोहंगिया मुस्लिमो को ? पाकिस्तान बांग्लादेश और सऊदी क्यों नही ? पाकिस्तान के वो दल्ले जो भारत के टुकड़ो पर पलकर भारत के खिलाफ ही भोकते है पर यही मुसलमां अनदेखा कर देता है जब सीरिया, इराक, तालिबान, अफगानिस्तान सहित 20 इस्लामिक देशो में मुसलमां ही मुसलमां को मारता काटता है और 10 सालो में 2 करोड़ मुस्लमानो का दुनिया से सफाया कर देता है। तब ये किसी को गाली नही देते। बात बात में गाली देना और गोली देना इनकी आदत बन चुकी है। भारत में कोई एक दुर्घटना में मारा जाये तो ये जयपुर जला देते है। 100 पुलिस वालो को तोड़ फोड़कर अस्पतालों में एडमिट करा देते है। हिन्दुओ की सेकडो मुस्लमानो दुकाने जला देते है।

बस यही फर्क है मुझमे और उन गाली देने वाले मुस्लमानो में। आप मुझे कितनी भी गाली दे पर मैं आपको मोहब्बत करुँगी क्योंकि यही मेरी पार्टी के विचार है यही मेरा अल्लाह बोलता है।

SI News Today

Leave a Reply