Thursday, June 13, 2024
featuredदेश

ओडिशा के भद्रक में सोशल मीडिया पर हिंदू देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के 48 घंटे के लिए फेसबुक, व्हाट्सएप्प, ट्विटर बैन

SI News Today

ओडिशा के भद्रक में सोशल मीडिया पर हिंदू देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोपी आसिफ अली खान को रविवार (नौ अप्रैल) गिरफ्तार कर लिया। आसिफ बीजू जनता दल (बीजेडी) के विधायक अजगर अली खान का बेटा है। सोशल मीडिया पर आत्तिजनक टिप्पणी के बाद भद्रक में हिंसा भड़क गयी थी जिसके बाद प्रशासन को शुक्रवार (सात अप्रैल) को इलाके में कर्फ्यू लगाना पड़ा था। रविवार को कर्फ्यू में चार घंटे की छूट दी गयी थी। प्रशासन ने भद्रक में रविवार शाम सात बजे से लेकर अगले 48 घंटों तक के लिए फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप्प इत्यादि पर प्रतिबंध लगा दिया है।

ओडिशा प्रशासन ने हिंसा प्रभावित इलाकों में लोगों की मदद के लिए टोल फ्री टेलीफोन नंबर 1077 और हेल्पलाइन नंबर 06784-251881 जारी किए हैं। आसिफ पर तीन दिन पहले बजरंग दल के कार्यकर्ता अजित पधिहारी के फेसबुक पेज पर भगवान राम और देवी सीता के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप है। आसिफ और दो अन्य युवकों पर राम नवमी के दिन भड़काऊ टिप्पणी करने का आरोप है जिसके बाद सांप्रदायिक तनाव फैल गया।

भद्रक के एसपी दिलीप दास ने कहा कि पुलिस ने अब तक 60 लोगों को गिरफ्तार किया है और दंगे से जुड़े छह मामले दर्ज किए हैं। राज्य सीआईडी फेसबुक और व्हाट्सऐप पर किए गए कथित आपत्तिजनक टिप्पणियों की जांच कर रही है। सीआईडी पिछले कुछ दिनों में सोशल मीडिया पर शेयर की गयी सभी टिप्पणियों की पड़ताल करेगी। सीआईडी के स्पेशल डायरेक्टर जनरल बीके शर्मा ने बताया  कि प्रशासन ने सभी व्हाट्सऐप ग्रुप एडमिनिस्ट्रेटरों से संबंधित सूचना पुलिस को देने को कहा है। कटक स्थित साइबर क्राइम थाने में धारा 153(ए) और 295 (ए) के तहत मामला दर्ज किया है।

वहीं हिंसा प्रभावित इलाके में आरएएफ की तीन और सीआरपीएफ की दो बटालियनें पुलिस की मदद के लिए तैनात की गई हैं। इलाके में शुक्रवार को लगाए गए कर्फ्यू में रविवार को चार घंटे की छूट दी गयी। एसपी दिलीप दास ने कहा कि कर्फ्यू सोमवार सुबह सात बजे तक जारी रहेगा। और उसके बाद स्थिति के आकलन के बाद ही कर्फ्यू को जारी रखने या खत्म करने का फैसला लिया जाएगा। जिला प्रशासन ने सभी स्थानीय स्कूल-कॉलेजों को सोमवार (10 अप्रैल) तक बंद रखने का आदेश दिया है। भद्रक टाउन पुलिस धाने के प्रभारी जदुनाथ जेना को हटाकर उनकी जगह मनोज राउत को नियुक्त किया गया है। हिंसा की ज्यादातर घटनाएं भद्रक पुलिस थाने इलाके में हुई हैं।

SI News Today

Leave a Reply