Tuesday, April 16, 2024
featuredदेश

जनरल बिपिन रावत से बोलीं महबूबा मुफ्ती – डंडे से कुछ नहीं निकलेगा, ऐसा दोबारा नहीं होना चाहिए

SI News Today

जम्मू कश्मीर में फैली अशांति के बीच वहां की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत से मुलाकात की। मीटिंग में महबूबा मुफ्ती ने जवानों के कुछ कथित नए वीडियोज पर बात की जो बाद में समाने आए। उन वीडियोज में कथित रूप से जवान कुछ कश्मीरी लोगों की पिटाई कर रहे थे और डंडे के दम पर उनसे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगवा रहे थे। दूसरे में युवक की पिटाई हो रही थी। मुफ्ती ने रावत से कहा कि ऐसी कार्रवाई पिछले कुछ सालों में की गई सारी मेहनत पर पानी फेर देगी। साथ ही उन्होंने उन घटनाओं के लिए जिम्मेदार लोगों पर एक्शन लेने की भी बात कही। दोनों के बीच यह मुलाकात शनिवार (15 अप्रैल) को हुई। इससे पहले एक और वीडियो सामने आया था। उसमें कथित तौर पर एक आर्मी जीप पर एक कश्मीरी युवक को बांधकर लेकर जाया जा रहा था। उसे देखकर महबूबा ने हैरानी और दुख प्रकट किया था। महबूबा ने कहा कि ऐसी कार्रवाई के गंभीर नतीजे देखने को मिल सकते हैं।

सूत्रों के मुताबिक, महबूबा ने रावत से यह भी कहा कि ऐसे एक्शन का राज्य पर तो गंभीर प्रभाव होता ही है साथ ही साथ राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी यह ठीक नहीं है। मिली जानकारी के मुताबिक, महबूबा ने जनरल रावत को बताया कि जीप वाले वीडियो ने लोगों पर काफी नकारात्मक प्रभाव डाला है और लोग उससे नाराज हैं। ऐसा पता चला है कि बातचीत के दौरान महबूबा ने कहा, ‘डंडे से कुछ नहीं निकलेगा, अबतक जो हुआ सो हुआ, लेकिन आगे से ऐसा मत करना।’ महबूबा ने कहा कि इससे सेना और सरकार द्वारा चलाए जा रहे सद्भावना ऑपरेशन और कश्मीरी युवाओं के लिए जो घूमने का प्रबंध किया जाता है उसपर प्रभाव पड़ेगा।

जानकारी मिली है कि जनरल रावत ने जल्द से जल्द कुछ करने का भरोसा भी दिया है। बता दें कि शनिवार (15 अप्रैल) को भी दो वीडियोज सामने आए। उसमें से एक में कश्मीरी शख्स को डंडों से बुरी तरह पीटा जा रहा था और दूसरी वीडियो में युवाओं से पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी करवाई जा रही थी। हालांकि, यह साफ नहीं है कि वीडियोज कब के हैं। महबूबा दिल्ली आकर पीएम मोदी से मिलना चाहती थीं लेकिन वे बीजेपी नेताओं के साथ भुवनेश्वर गए हुए थे।

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत राज्यपाल एन एन वोहरा से भी मिले। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि रावत शनिवार (15 अप्रैल) की दोपहर को जम्मू पहुंचे और राजभवन में वोहरा से मुलाकात की। दोनों ने कश्मीर में चुनाव, सुरक्षा, कानून एवं व्यवस्था तथा सीमा पर स्थिति के संबंध में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। अधिकारी ने बताया कि सेना प्रमुख ने उन्हें जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर बढ़ायी गयी चौकसी और तैनाती के साथ ही घाटी में सेना के आतंक रोधी अभियान के बारे में बताया।

SI News Today

Leave a Reply