Saturday, May 18, 2024
featuredदेश

जेएनयू देश का दूसरा सबसे बेहतरीन विश्वविद्यालय

SI News Today

पिछले काफी समय से कथित देश विरोधी गतिविधियों को लेकर विवादों में रहने के बावजूद जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय ने पठन-पाठन के क्षेत्र में अपनी विश्वसनीयता को कायम रखा है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से देश के टॉप विश्वविद्यालयों की जारी सूची में इस विश्वविद्यालय को दूसरे पायदान पर रखा गया है।

विश्वविद्यालय और ओवरऑल दोनों वर्गों में प्रतिष्ठित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ सांइसेज, बैंगलोर प्रथम पायदान पर है। कॉलेज वर्ग में दिल्ली विश्वविद्यालय का मिरांडा हाउस देश में टॉप पर है।

आईआईएस, बैंगलोर को देश के सबसे बेहतरीन संस्थान का दर्जा मिला है। संस्थान ने ओवरऑल के साथ-साथ यूनिवर्सिटी वर्ग में भी पहली रैंक हासिल की है। ओवरऑल वर्ग में आईआईटी मद्रास को दूसरा और आईआईटी बांबे को तीसरी रैंक मिली है।

कॉलेज वर्ग में डीयू का मिरांडा हाउस पहले, लोयला कॉलेज चेन्नई दूसरे, श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स तीसरे स्थान पर है। इंजीनियरिंग वर्ग में आईआईटी मद्रास पहले, आईआईटी बांबे दूसरे, आईआईटी खड़गपुर तीसरे स्थान तो फार्मेसी वर्ग में जामिया हमदर्द पहले, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च मोहाली दूसरे, यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल सांइसेस चंडीगढ़ को तीसरी रैंक मिली है। मैनेजमेंट वर्ग में आईआईएम अहमदाबाद पहले, आईआईएम बंगलूरू दूसरे तो आईआईएम कोलकाता तीसरे स्थान पर है। यूनिवर्सिटी वर्ग में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय को तीसरी रैंक मिली है।

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडे़कर ने सोमवार को नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क के तहत नेशनल रैंकिंग 2017 की छह वर्गों के तहत सूची जारी की। ओवरऑल वर्ग के टॉप संस्थानों में आईआईटी दिल्ली को 5वां, जेएनयू को 6ठा, आईआईटी कानपुर को 7वां, आईआईटी रुड़की को 9वां, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय को 10वां, डीयू को 15वां, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी को 19वां स्थान तो जामिया मिलिया इस्लामिया को 20 वीं रैंक मिली है।

भारत की दूसरी रैंकिंग में पहली बार ओवरऑल व कॉलेज वर्ग शामिल किए गए हैं। जावडे़कर ने कहा कि नेशनल रैंकिंग जारी होने से अभिभावकों और छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए संस्थान चुनने में सहायता मिलेगी। नेशनल रैंकिंग में शामिल होने की दौड़ के चलते अब शिक्षा की गुणवत्ता में भी सुधार दिखेगा।

वहीं, सूची में शामिल संस्थानों की फंडिंग में भी बढ़ोतरी होगी। ओवरऑल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी व इंजीनियरिंग वर्ग में सौ-सौ शिक्षण संस्थानों को जगह मिली है। फार्मेसी व मैनेजमेंट में 50 संस्थानों को रैंक मिली है।

ओवरऑल में टॉप 10 संस्थानों में सात आईआईटी

पांच तरह के मानकों पर हुआ चयन
नेशनल रैंकिंग की सूची में शामिल होने के लिए पांच प्रकार के पैरामीटर तैयार किए गए थे, जिसके तहत वेटेज मिला है। टीचिंग-लर्निंग-रिसोर्स पैरामीटर में छात्रों की संख्या, छात्रों-शिक्षकों का अनुपात, शिक्षकों की शैक्षिक योग्यता व अनुभव, वित्तीय संसाधन व उसकी उपयोगिता तो रिसर्च एंड प्रोफेशनल प्रैक्टिस में प्रकाशन, प्रकाशन की गुणवत्ता, पेटेंट, सहायता व  सलाहकार और  ग्रेजुएशन आउटकम में प्लेसमेंट, यूनिवर्सिटी परीक्षा, प्लेसमेंट पैकेज, पीएचडी छात्रों की संख्या तो आउटरिच एंड इंक्लूसिविटी में विदेश या अन्य राज्यों के छात्र, महिला फ्रेंडली, आर्थिक रूप से कमजोर व दिव्यांग छात्र, दिव्यांग छात्रों के लिए सुविधाएं व परसेप्शन, प्रशासनिक आदि की परख की गई।

जेएनयू और जाधवपुर यूनिवर्सिटी के रैंकिंग में शामिल होने का कारण आतंकी अफजल गुरु के समर्थन में नारे लगाने और जेएनयू में करवाचौथ पर कुलपति समेत अन्य अधिकारियों को 24 घंटे बंधक बनाए रखना नहीं, बल्कि इन विश्वविद्यालयों का शोध कार्य है।
प्रकाश जावडे़कर, मानव संसाधन विकास मंत्री

ओवरऑल में टॉप 10 संस्थानों में सात आईआईटी
ओवरऑल वर्ग में देश के शीर्ष 10 संस्थाओं में से सात आईआईटी हैं। दो अन्य संस्थान जेएनयू और बीएचयू हैं।

आईआईएम अहमदाबाद शीर्ष प्रबंधन संस्थान
पिछले साल शीर्ष प्रबंधन संस्थानों की सूची में दूसरे पायदान पर रहे आईआईएम अहमदाबाद ने फिर से अपनी टॉप रैंकिंग हासिल कर ली। पिछले साल शीर्ष पर रहे आईआईएम बंगलूरू इस बार दूसरे पायदान पर है।

SI News Today

Leave a Reply