Tuesday, February 27, 2024
featuredदेश

ट्रेन में अब जल्द ही मिलेगा रेडी टू ईट मील, हो रही है तैयारी

SI News Today

चलती ट्रेनों में खराब खाने का मुद्दा लोकसभा में भी गूंजा. सियालदह राजधानी में खराब खाना परोसे जाने की वजह से यात्रियों की तबीयत खराब होने के मामले को संसद में उठाया गया. रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने इस मामले में जवाब देते हुए कहा जब उनको पता चला तो उन्होंने इस ट्रेन में खाना सर्व करने वाले कांट्रेक्टर आर के एसोसिएट का कॉन्ट्रैक्ट रद्द करने के लिए नोटिस ऑफ टर्मिनेशन जारी कर दिया. इस ट्रेन के लिए नया कांट्रेक्टर नियुक्त करने के वास्ते टेंडर भी जारी कर दिया गया है. रेल मंत्री ने बताया कि हमारी नीति ट्रेनों में कैटरिंग के मामले में हमेशा ही जीरो टॉलरेंस की रही है. सिर्फ इस मामले में ही नहीं बल्कि दूसरे मामलों में भी हम जल्द से जल्द कार्यवाही करते हैं और हमारी कोशिश है कि व्यवस्थागत परिवर्तन करके रेलवे की कैटरिंग को बेहतरीन बनाया जाए.

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने बताया कि वर्ष 2010 में खान-पान संबंधी जो नीति बनाई गई थी उसी के तहत कैटरिंग के सारे मौजूदा कॉन्ट्रैक्ट दिए गए थे उस कैटरिंग पॉलिसी को हमने पूरी तरह से समाप्त कर दिया है. पुरानी कैटरिंग पॉलिसी के कारण जो शिकायतें आ रही हैं उन पर भी हम पूरी तरह से विचार कर रहे हैं. नई कैटरिंग पॉलिसी बनाई गई है. उसके तहत अलग-अलग क्षेत्रों के लोगों को उनके खाने का स्वाद ट्रेन में मिल पाएगा इसके लिए हमने एक कैटरिंग की शुरुआत की है. रेल मंत्री ने बताया कि हमने 100000 यात्रियों को अब तक ई कैटरिंग के जरिए खाना पहुंचाया है. ई-कैटरिंग की सुविधा के जरिए लोगों को क्षेत्रीय खाना और मनपसंद खाना देने की तैयारी की जा रही है. इसके अलावा हमने सेल्फ हेल्प ग्रुप की महिलाओं के माध्यम से बने भोजन को यात्रियों तक खाना पहुंचाने की व्यवस्था की गई है.

रेल मंत्री ने बताया कि नई कैटरिंग पॉलिसी के तहत खाने की क्वालिटी को दुरुस्त किया जाएगा और सबसे बड़ी बात यह है एक बेहतर खाना देने के लिए हम बेस किचन शुरू कर रहे हैं. बेस किचन के मैनेजमेंट की व्यवस्था IRCTC देखेगा और उनकी यह जिम्मेदारी होगी खाना अच्छी क्वालिटी का मिले. बेस किचन में बने हुए खाने का वितरण दूसरी कंपनियां करेंगी यह कंपनियां हॉस्पिटलिटी सेक्टर की होगी. इससे खराब खाने की स्थिति में जिम्मेदारी तय की जा सकेगी. कैटरिंग में सभी पुराने कॉन्ट्रैक्ट को हम रद्द करने की कोशिश कर रहे हैं. जैसे ही नई व्यवस्था लागू हो जाएगी खाने की क्वालिटी में सुधार देखने को मिलेगा.

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने लोकसभा में इस बात की भी जानकारी दी कि खाने की क्वालिटी सुधारने के लिए ई कैटरिंग पॉलिसी पर जोर दिया जा रहा है. ट्रेनों में रेडीमेड फूड फूड पर देने के लिए नई पॉलिसी भी बनाई जा रही है. रेडीमेड फूड में आपको गरम पानी मिलाना पड़ेगा. हम रेडी टू ईट मील की तरफ भी ध्यान दे रहे हैं. बेंगलुरु में रेडी टू ईट खाने क ट्रायल चल रहा है. इस व्यवस्था के तहत आप बटन दबाकर मशीन से अपने मनपसंद खाना का आर्डर दे सकते हैं

SI News Today

Leave a Reply