Tuesday, May 28, 2024
featuredदेशबिहारराज्य

तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर छोटा राजन के तेज संगीत बजाने पर गुस्सा हुए शहाबुद्दीन, जेलर से कहा- मुझे भी चाहिए टीवी

SI News Today

दिल्ली की सबसे सुरक्षित तिहाड़ जेल में इन दिनों दो कुख्यात बाहुबली बंद हैं। इनमें से एक सीवान से आरजेडी के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन हैं तो दूसरे अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन हैं। इंडिया टुडे के मुताबिक जेल के अंदर संगीत बजाने पर इन दोनों के बीच ठन गई है। शहाबुद्दीन ने जेल प्रशासन से छोटा राजन के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई है। अपनी शिकायत में शहाबुद्दीन ने कहा है कि छोटा राजन को जेल में टीवी दिए जाने और उस पर तेज संगीत बजाए जाने से उन्हें परेशानी हो रही है। हालांकि ये दोनों जेल के अलग-अलग बैरक में रखे गए हैं।

सूत्रों ने बताया है कि अब शहाबुद्दीन ने भी जेल प्रशासन से टीवी सेट देने की मांग की है। अपनी अर्जी में शहाबुद्दीन ने लिखा है कि वो जेल में अकेला महसूस करते हैं। लिहाजा, उन्हें एक टीवी सेट दिया जाय। शहाबुद्दीन को तिहाड़ के जेल नंबर 1 में रखा गया है जबकि छोटा राजन दूसरे जेल में बंद है। तिहाड़ में शहाबुद्दीन और छोटा राजन जैसे हाई प्रोफाइल क्रिमिनल्स की सुरक्षा में तमिलनाडु पुलिस की स्पेशल सेल के जवान तैनात हैं।

गौरतलब है कि छोटा राजन को नवंबर 2015 में इंडोनेशिया के बाली शहर में गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद उसे तिहाड़ जेल में शिफ्ट कर दिया गया था जबकि शहाबुद्दीन को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इसी साल फरवरी में बिहार से तिहाड़ शिफ्ट किया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने 15 फरवरी को शहाबुद्दीन को तिहाड़ जेल शिफ्ट करने का निर्देश दिया था। शहाबुद्दीन कुल 45 मुकदमों में आरोपी हैं और सभी का ट्रायल चल रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने निर्देश में कहा था कि पूर्व सांसद होने की वजह से शहाबुद्दीन को कोर्ट में कुछ भी खास सुविधाएं न दी जाएं।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बिहार के सिवान जेल से दिल्ली के तिहाड़ जेल में शिफ्ट कराए गए राजद के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन की ट्रेन यात्रा पर भी फिर विवाद छिड़ चुका है। पटना से संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस से दिल्ली तक का सफर कर रहे शहाबुद्दीन के पास रिजर्वेशन बॉगी का टिकट नहीं था। जब टीटीई ने उनसे टिकट मांगा तो उनके पास जनरल टिकट था। बेटिकट पाए जाने पर टीटीई ने उन से 440 रुपये बतौर जुर्माना वसूले थे।

SI News Today

Leave a Reply