Monday, February 26, 2024
featuredदेश

पश्चिमी बंगाल में हिंसा भड़काने की रची जा रही थी साजिश…

SI News Today

पश्चिमी बंगाल का महौल बिगाड़ने की तैयारियां की जा रही हैं। 30 सितंबर मतलब विजयदशमी के दिन पूजा के बाद माहौल को बिगाड़ने की कोशिशें हो रही हैं। यह जानकारी सोशल मीडिया से सामने आई है। खबर के मुताबिक, एक फेसबुक चैट से इस बात का खुलासा हुआ है। चैट में एक बीजेपी नेता ने लिखा है कि राज्य में दंगा कराने के लिए हथियार और बम इकट्ठे कर लिए गए हैं।

इसका खुलासा से संतोष कुमार हुआ है। संतोष कुमार की फेसबुक पर डिटेल्स कनविनर, बीजेपी ट्रेड सेल, साउथ (24) परगना (वेस्ट) और बीजेपी ऑबजर्वर वेस्ट बंगाल के तौर पर हैं। उन्होंने लिखित में योजना बनाने और आतंकवादी गतिविधियों को क्रियान्वित करने में अपनी भागीदारी को कबूल किया और स्वीकार किया कि विजयदाशमी पर शस्त्र पूजा के बाद सांप्रदायिक अशांति पैदा करने की वास्तव में योजना थी।

इस साल कुछ सीनियर नेताओं के साथ मिलकर एक टीम बनाई गई है जो बंगाल के विभिन्न हिस्सों में हिंसक गतिविधियां करेगी। इससे पहले, इस समूह के सदस्य तिल्जाला मस्जिद पर हमला करने के लिए जिम्मेदार थे जिसके बाद मुसलमानों को दो दिन के लिए अपनी नमाज रोकनी पड़ी थी। इस ग्रुप ने दावा किया है कि उसे पार्टी के कई सदस्यों का समर्थन है। संतोष द्वारा बताई गई लिस्ट में जिन लोगों के नाम मौजूद हैं वह पार्टी में अच्छी पॉजिशन पर हैं। यह पार्टी में डिस्ट्रिक्ट जनरल सेक्रेटरी से लेकर महिला मोर्चा के नेताओं तक हैं।

संतोष द्वारा नामित इनमें से कुछ लोगों की तस्वीरें राज्य और केंद्र में उनके और भाजपा नेतृत्व के बीच एक अजीब रिश्ते प्रकट करती हैं। इन तस्वीरों में वह बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और पश्चिम बंगाल के बीजेपी सांसद रूपा गांगुली के साथ नजर आ रहा है। इस टीम में राज्य के विभिन्न हिस्सों से बीजेपी और आरएसएस के कार्यकर्ता शामिल हैं।

संतोष के अनुसार, वर्तमान समूह के आठ से 10 सदस्यों को इन समूहों द्वारा शस्त्रों का इस्तेमाल करने और दुर्गा पूजा के दौरान कार्रवाई करने के लिए प्रशिक्षित किया गया है। टीम में दक्षिण 24 परगनाओं के लगभग 400 सदस्य हैं, जिनमें भाजपा की बंगाल इकाई के कुछ प्रमुख सदस्य शामिल हैं। अर्नव मित्रा, सूरज कुमार सिंह, राजेश जैन सुराणा, रश्मी गांधी, सबिता चौधरी, राजा बोस, राजर्षि लाहिरी, गौरव विश्वास, सुशील शहन, भगवान झा, प्रदीप शर्मा, तपस पाल, शिवशंकर भट्ट, निमई साहा, सुनील द्विवेदी, मनोहर पाठक, सुभाष शॉ, मोंटी, साथ ही इस मैसेज में लिखा है कि, कई ऐसे भी हैं जो एक कॉल पर कहीं भी जाने को तैयार रहते हैं।

SI News Today

Leave a Reply