Monday, June 17, 2024
featuredउत्तर प्रदेशदेशराज्य

भारतीय तिरंगा का अपमान करने वाले कर्मचारी को ओपो ने बर्खास्त किया

SI News Today

चीन की मोबाइल कंपनी ओपो ने आज कहा कि उसने उस कर्मचारी को बर्खास्त कर दिया है जिसने कल भारतीय ध्वज का अपमान किया था.

कंपनी ने कर्मचारी को निकाला

यह घटना कथित तौर पर कंपनी के नोएडा संयंत्र में हुई. कर्मचारियों का आरोप था कि एक चीनी कर्मचारी ने भारतीय ध्वज को कचरापात्र में फेंक दिया. इसको लेकर विवाद हो गया. कंपनी ने एक बयान में कहा है, ‘हम इस तरह के मामलों को सहन नहीं करते और कर्मचारी को बर्खास्त  करते हुए कड़ी कार्रवाई की है. इस मामले में अधिकारियों के साथ सहयोग कर रहे हैं.’ इसके साथ ही कंपनी ने इस ‘दुर्भाग्यपूर्ण घटना’ पर खेद जताया है. कंपनी का कहना है कि उसका भारत व इसकी संस्कृति के प्रति ‘गहरा सम्मान’ है. इससे पहले बीजिंग में चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि चीन को उम्मीद है कि भारतीय अधिकारी इस मुद्दे को ‘उचित’ ढंग से सुलझाएंगे.

 चीनी अधिकारी ने उचित समाधान की उम्मीद जताई

स्मार्टफोन निर्माता कंपनी ओप्पो के एक चीनी अधिकारी द्वारा कथित तौर पर भारतीय ध्वज के अपमान के मामले को भारतीय अधिकारी उचित ढंग से सुलझायेंगे और कंपनी के अधिकारों की रक्षा करेंगे. चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कंग ले ने यहां एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा, ‘हमनें प्रासंगिक खबरों पर ध्यान दिया है. कंपनी के अधिकारी स्थानीय पुलिस के संपर्क में हैं.’उत्तर प्रदेश के नोएडा में हुयी घटना के संबंध में एक सवाल का जवाब देते हुये उन्होंने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि इसका उचित तरीके से समाधान हो जायेगा. चीन की सरकार हमेशा अपने विदेशी उद्यमों और कर्मचारियों को स्थानीय कानूनों, नियमों का पालन करनें और स्थानीय रीति रिवाजों का सम्मान करने को कहती है.’

 क्या था पूरा मामला? 

ओप्पो की नोएडा इकाई में कर्मचारियों ने चंद दिन पहले उस वक्त प्रदर्शन और हंगामा किया जब कंपनी के एक चीनी अधिकारी ने कथित तौर पर भारतीय राष्ट्रध्वज का अपमान किया था. इस मामले में जिले के अधिकारियो और उप श्रम आयुक्त के हस्तक्षेप के बाद चीनी फर्म के अधिकारी ने बिना शर्त माफी मांग ली थी. लू ने कहा, ‘‘हमें यह भी उम्मीद है कि चीनी उद्यम और कर्मचारियों के वैध अधिकारों की कानून के तहत सुरक्षा होगी.’’

SI News Today

Leave a Reply