Tuesday, May 28, 2024
featuredदेश

भारत बीफ निर्यात में विश्व में नंबर वन, 71 फिसदी भारतीय मांसाहारी

SI News Today

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की अवैध बूचडख़ानों पर कार्रवाई से एक बार फिर गौ मास को लेकर पूरे भारत में सियासत होने लगी है। योगी आदित्यनाथ के इस रवैये से परेशान मीट व्यापारी हड़ताल पर चले गए हैं। लेकिन यूपी के सीएम की इस तरह कि कार्रवाई के बाद भी भारत में बीफ निर्यात व्यापार पर कोई असर नहीं पड़ा।

उल्लेखनिय है कि भारत बीफ निर्यात में विश्व में पहले स्थान पर है। भारत में बीफ का सालाना कारोबार की रकम करीब सालाना 27 हजार करोड़ रुपए है। उल्लेखनिय है कि अमेरिकी कृषि विभाग का कहना है कि बीफ के निर्यात में भारत ब्राजील के साथ संयुक्त रूप से दुनिया में नंबर एक पर है। आंकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष 2015-16 में भारत की बीफ मार्केट में करीब 20 फीसदी की हिस्सेदारी थी।

वहीं वित्त वर्ष 2014-15 में भारत ने 24 लाख टन बीफ निर्यात किया था। दुनिया में निर्यात होने वाले कुल बीफ में करीब 60 फीसदी हिस्सेदारी भातर, ब्राजील और ऑस्ट्रेलिया की है। 2013-14 में भारत की भागीदारी 20.8 फीसदी की थी। इस लिहाज से बीफ एक्सपोर्ट में भारत ने प्रगति की है।

पिछले दो सालों में भारत ने बासमती चावल से भी ज्यादा बीफ का निर्यात किया है। पिछले 5 सालों में कुल निर्यात रेवेन्यू में बीफ निर्यात से होने वाली आय 0.76 प्रतिशत से बढक़र 1.56 प्रतिशत हो गई है। उधर कुछ दिनों पहले खबर आई थी कि ब्राजील में हानिकारक बीफ बेचे जाने के कारण यहां बीफ का आयात बंद कर दिया गया है।

अगर ब्राजील में ये बैन लगा रहता है तो भारत सहित कई देशों को फायदा हो सकता है। क्योंकि ब्राजील अब भारत से मांस आयात करने के बारे में सोच रहा है। वहीं मांस की सबसे ज्यादा खपत वाले देश चीन ने भारत से बीफ आयात पर हामी भरी है।

भारत में यूपी है बीफ का सबसे बड़ा केंद्र

अमेरिकी कृषि विभाग के अनुसार भारत में मवेशियों की संख्या करीब 30 करोड़ है। इसमें उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 28 फीसदी मवेशियों की आबादी है। लिहाजा इसी प्रदेश में बूचडख़ानों की संख्या सबसे ज्यादा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 72 लाइसेंसी बूचडख़ाने है जिसमें उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 38 है।

भारत में 71% लोग मांसाहारी

एक सर्वे के अनुसार पता पड़ा है कि भारत में करीब 71 प्रतिशत आबादी ऐसे लोगों की है जो खाने में मांस का उपयोग करते है। भारत में बढ़ते मांसाहार के आकड़ों के कारण ही भारत में मांस की खपत बढ़ी है।

SI News Today

Leave a Reply